मुरादाबाद, जेएनएन। Omicron Variant : विदेश से 16 व्यक्ति और अपने घर अमरोहा लौटे हैं। येे सऊदी अरब, नाइजीरिया, अफ्रीका और कतर में रहकर काम करते थे। विदेश से लौटने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनमें से आठ व्यक्तियों को ट्रेस कर होम क्वारंटाइन कराया है जबकि, अन्य की तलाश जारी है। कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रोन संक्रमण के चलते विदेश से यात्रियों का अपने घर लौटने का सिलसिला बरकरार है।

मंगलवार को भी विदेश से 16 व्यक्ति और लौटे हैं। इनमें दो महिला शामिल हैं। यह अमरोहा नगर के मुहल्ला गुजरी छत्ता, वासीपुर, कांकर सराय, कटरा गुलाम अली, गजरौला, धीमा खेड़ी, सैदनगली, बछरायूं, चकली, मिठनपुर के रहने वाले है और नाईजीरिया, सऊदी अरब, तजाकिस्तान, सिंगापुर और कतर से लौटे हैं। यह सभी वहां रहकर काम करते थे। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. सतपाल सिंह ने बताया कि निगरानी समितियाें ने विदेश से लौटे आठ व्यक्तियों को ट्रेस कर सात दिन के लिए होम क्वारंटाइन करा दिया है। इनमें से दो व्यक्तियों की आरटीपीसीआर जांच कराई गई है।

विदेश से लौटे 18 व्यक्ति लापता : सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अभी तक विदेश से 88 व्यक्ति अपने घर लौट चुके हैं। डीएसओ ने बताया कि इनमें से 70 व्यक्तियों को ट्रेस कर क्वारंटाइन कराया जा चुका है। जबकि विदेश से लौटे 18 व्यक्ति ऐसे हैं, जो लापता हैं और काफी खोजबीन के बावजूद मिले नहीं है।

अमरोहा में एक और डेंगू का मरीज मिला : जिला सर्विलांस अधिकारी डा. सतपाल सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग को मिली जांच रिपोर्ट में एक व्यक्ति और डेंगू संक्रमित पाए गए हैं। कई दिन से बुखार आ रहा था। हालत बिगड़ने पर स्वजन ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। एलाइजा जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है। जिससे डेंगू केस की संख्या बढ़कर 801 हो गई है। वहीं सरकारी अस्पतालों में 3203 मरीजों की ओपीडी हुई। इनमें से 183 मरीज बुखार, दो टाइफाइड और 21 मरीज डायरिया के पाए गए हैं।

अनियमितता बरतने पर नौ कर्मियों का वेतन रोका : पालिका अधिशासी अधिकारी ब्रजेश कुमार ने सरकारी कार्यो में अनियमितताएं बरतने पर नौ कर्मियों के वेतन पर रोक लगाई है। इनमें जन्म मृत्यु पटल के मुहम्मद निजाम, प्रकाश निरीक्षक जमाल वाजिद खां, मुहम्मद अकरम, राजेश, शाकिर, वीर सिंह, आफाक अहमद, लड्डन खां, ज्योतिस्वरूप सिंह शामिल हैं। ईओ ने बताया कि यह कर्मी अपने कार्यो में लापरवाही बरत रहे थे। जिसके कारण इनके वेतन पर रोक लगाई गई है।

Edited By: Samanvay Pandey