मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Dengue in Moradabad : जिले में आज भी डेंगू से पीड़ित 15 रोगी मिले हैं। सभी रोगी शहरी क्षेत्रों के हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू के रोगियों की संख्या कम हुई है। ठंड बढ़ने के बाद भी डेंगू रोगियों की संख्या कम नहीं होने से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी चिंतित हैं। पिछले साल तक ठंड पड़ने शुरू होेने के साथ ही डेंगू रोगी मिलने बंद हो जाते थे। यानी दीपावली के बाद डेंगू खत्म हो जाता है। इस साल लगातार ठंड बढ़ती जा रहा है, लेकिन डेंगू के रोगियों की संख्या में कोई कमी नहीं आई है। यह स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। इसका लगातार कारण खोजा जा रहा है लेकिन अभी तक कुछ पता नहीं चला है।

गुरुवार शाम को जांच रिपोर्ट मिली है, जिसमें 15 डेंगू के रोगी पाए गए हैं। इसमें महानगर के करुला, रहमत नगर, दौलत बाग, रेती स्ट्रीट, पीतल नगरी, असालतपुर मझोला, नवीन नगर, नागफनी क्षेत्र के रहने वाले हैं। ग्रामीणों क्षेत्रों में डेंगू रोगियों की संख्या में कमी हो गई है। मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. एमपी गर्ग ने बताया कि गुरुवार को डेंगू के 15 रोगी मिले हैं। आज डेंगू से किसी की मौत नहीं हुई है। शहरी क्षेत्रो में डेंगू के रोगी मिल रहे हैं, ग्रामीण क्षेत्रों में रोगियों की संख्या कम हुई है। 

नगर पंचायत की ओर से चलाया गया विशेष सफाई अभियान : रामपुर के मसवासी में नगर पंचायत  द्वारा नगर में संक्रामक रोगों के नियंत्रण के लिए विशेष सफाई अभियान चलाया गया। इस दौरान कूड़ा उठाने के साथ ही नाले-नालियों की सफाई की गई। इसके बाद मच्छरों की रोकथाम के लिए दवा का छिड़काव किया गया। स्वच्छ भारत मिशन के प्रभारी अमित कुमार चंद्रा ने बताया कि नगर में प्रतिदिन विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है। सुबह की पाली में सफाई की जाती है। द्वितीय पाली में सफाई के साथ-साथ मच्छरों को मारने की दवा का छिड़काव कराया जाता है। रात में नगर में रात्रि सफाई अभियान के साथ-साथ फागिंग भी की जा रही है, जिससे नगर को मच्छरों के प्रकोप से बचाया जा सके तथा संक्रामक रोगों के प्रसार को रोका जा सके। निकाय द्वारा पहले ही कंट्रोल रूम नंबर व टोल फ्री नंबर जारी किया जा चुका है। जिस पर कोई भी सुबह नौ से रात आठ बजे तक काॅल कर अपनी शिकायत नोट करा सकते हैं।

Edited By: Narendra Kumar