मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Coronavirus News Update Today : कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। प्रतिदिन तीन सौ से पांच सौ तक संक्रमितों का आंकड़ा पहुंच रहा है। कोविड एल-टू अस्पताल में भी अब तक नौ मरीजों के भर्ती किया जा चुका है। इसमें सात मरीजों को निमोनिया बढ़ने की वजह से सांस लेने में दिक्कत हुई तो आक्सीजन से स्थिति को सुधारा गया। चिकित्सक फिलहाल सभी मरीजों की स्थिति को काबू में बता रहे हैं।

भले ही कोरोना संक्रमण के गंभीर परिणाम सामने नहीं आ रहे हैं। लेकिन, हम सभी को कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना है। शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने के साथ ही मास्क भी जरूर लगाना है। कोविड एल-टू अस्पताल में नौ मरीज आक्सीजन बेड पर भर्ती हैं। कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ने की वजह से लोगों को हल्की दुश्वारी भी हो रही है। लेकिन, इसका सबसे अधिक असर पहले से बीमार लोगों पर नजर आ रहा है।

कोविड एल-टू अस्पताल में स्थिति यह है कि नौ मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। उनमें से सात मरीजों को आक्सीजन दिया जा रहा है। सभी की हालत स्थिर बताई जा रही है। गंभीरता की स्थिति में एक भी मरीज नहीं है। कोविड एल टू अस्पताल के प्रभारी डा. संजीव बेलवाल ने बताया कि फेफड़ों पर निमोनिया के मरीज कोविड एल-टू में भर्ती हैं। सात मरीजों को आक्सीजन पर रखा गया है। उनकी स्थिति पहले से बहुत बेहतर है। गंभीरता वाली कोई बात नहीं है। निरंतर तबीयत में सुधार हो रहा है।

आकाश इंस्टीट्यूट में लगाई गई वैक्सीन : आकाश इंस्टीट्यूट में सोमवार को कोरोना टीकाकरण के शिविर लगाए गए। यहां पढ़ने वाले सभी छात्र-छात्राओं ने टीके लगवाए। इंस्टीट्यूट के विवेक शर्मा ने बताया कि उसके इंस्टीट्यूट के सभी छात्रों ने टीके लगवा चुके हैं। टीके बच्चों को टीके लगवाने में अभिभावक भी उत्साहित थे। उन्होंने अपील किया कि जिन लोगों ने प्रथम खुराक के टीके नहीं लगवाए हैं, शीघ्र ही टीके लगवा ले। दूसरे खुराक वालों को टीका लगवाने के लिए अपील किया। टीका नहीं लगवाने से कोरोना का वायरस सक्रिय हो रहा है। कोरोना से बचाव के लिए कोविड के नियम का पालन करना जरूरी है।

Edited By: Samanvay Pandey