रामपुर: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य  मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि  कुछ स्वार्थी तत्व एनआरसी को लेकर भ्रम और भय का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं। इस तरह की साजिशों से हमें होशियार रहना चाहिए।  इससेे  किसी भी भारतीय नागरिक की नागरिकता पर कोई खतरा नहीं है। इस पर सांप्रदायिक सियासत भी ठीक नहीं है। केंद्रीय मंत्री मंगलवार को नौगवा गांव में जन चौपाल कार्यक्रम में बोल रहे  थे। 

देश के नागरिकों के अधिकारों की रक्षा होनी चाहिए 

उन्होंने  कहा कि अवैध घुसपैठियों की पहचान प्रक्रिया में किसी भी तरह का भेदभाव नहीं होगा। लोगों को अपनी नागरिकता प्रमाणित करने के पर्याप्त मौके मिलेंगे। देश के नागरिकों के अधिकारों की रक्षा हर हाल में होनी चाहिए और अवैध घुसपैठियों की पहचान की जानी चाहिए। कोई भी देश अवैध घुसपैठियों के जनसंख्या विस्फोट को नजरअंदाज नहीं कर सकता। 2013 से सुप्रीम कोर्ट के आदेश और निगरानी में यह प्रक्रिया चल रही है। एनआरसी की समस्त प्रक्रिया तय पैमानों के आधार पर हो रही है।

ईमानदारी से काम कर रही है मोदी सरकार 

श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार समावेशी विकास, सशक्तिकरण एवं राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति ईमानदारी से काम कर रही है। यह सरकार समाज के सभी जरूरतमंद वर्गों के लिए आशा की प्रतीक है। इस सरकार ने  बिना भेदभाव स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश भर में 10 करोड़ शौचालय बनवाए और एक वर्ष के अंदर 10 करोड़ जरूरतमंदों को आयुष्मान भारत योजना के तहत चिकित्सीय सुविधा मुहैया कराई।  श्री नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने जैसे कई ऐतिहासिक फैसले लिए, जिसका देश की जनता 70 साल से इंतजार कर रही थी।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप