मुरादाबाद,जेएनएन।  दुकानों के शोकेस में बंद पड़ी चूडिय़ां खनकने लगी हैं। हज्जाम की दुकानों पर कैंची की कचकच सुनाई देने लगी है। साडिय़ों की भीनी खुशबू से दुकानें महक उठीं हैं। बर्तन बाजार में अब तक बंद पड़ी दुकानों से सुनहरी चमक भी दिखाई देने लगी है। करीब 68 दिन के लॉकडाउन के बाद बाजार फिर से गुलजार हो गए हैं। लोगों की चहल-पहल के साथ अर्थव्यवस्था का चक्का भी घूम गया है। खरीदारी शुरू हुई है तो लोगों के दो महीने के अरमान फिर से परवान चढऩे लगे हैं।

मंगलवार को साप्ताहिक बंदी रहती है। इसके बावजूद बाजार में कई दुकानें खुलीं। इन दुकानों में खरीदारी करने पहुंची मेघा जैन बताती हैं कि आने वाले दिनों में उनके घर में शादी है। दो महीने से दुकानों के खुलने का इंतजार कर रही थीं। साड़ी की मैङ्क्षचग कि चूडिय़ां लेनी थी तो जूती भी मैङ्क्षचग की ही होनी चाहिए थी लेकिन, दुकानों के बंद होने के कारण उनके अरमान फीके पड़ गए थे। अब अनलॉक-1 में छूट मिली है तो वह जमकर खरीदारी कर रही हैं। इसी तरह शंभूनाथ दुकानों के खुलने के इंतजार में घर बैठे थे। अब जरूरत के सामान के साथ आने वाले दिनों की तैयारियों के लिए भी खरीदारी करने निकले हुए हैं।

कपड़े, जूतों के साथ हो रही इलेक्ट्रॉनिक आइटम की खरीददारी

बाजार में इन दिनों भीड़ तो बहुत है लेकिन, ग्राहक सिर्फ कपड़े, जूते-चप्पलों और इलेक्ट्रॉनिक आइटम की दुकानों पर ही दिखाई दे रहे हैं। दरअसल, लॉकडाउन के कारण कई घरों में शादियां रुक गई थीं लेकिन, अब लोग कपड़े और फुटवियर का सामान खरीदने निकल रहे हैं। वहीं गर्मी को देखते हुए पंखे, कूलर व फ्रिज आदि इलेक्ट्रॉनिक आइटम की खरीदारी भी बढ़ गई है। हालांकि, बर्तन बाजार, हस्तशिल्प के आइटम व सराफा बाजार अभी तक सूना पड़ा है। व्यापारियों को उम्मीद है कि ग्राहकों का कुछ दिन में रुझान इस तरफ ही बढ़ेगा।

ऐसी रही ग्राहकों की प्रतिक्रिया 

गंज बाजार पहुंची मेघा जैन ने कहा कि पिछले दो महीने से दुकानें बंद थी। ऐसे में अब महीनों बाद बाजार आकर अच्छा लग रहा है। कई चीजें सोच रखी हैं, जिनकी खरीदारी करनी है। डिप्टीगंज के शम्भूनाथ बताते हैं कि पहले तो दुकानें बंद थी, जिससे घर के कई जरूरी सामान भी नहीं मिल पा रहे थे। अब दुकानें खुली हैं तो पूरी सुरक्षा के साथ बाजार में खरीदारी करने आया हूं। कंजरी सराय की पूनम सैनी का कहना है कि  कई दिनों बाद बाजार में चहल-पहल देख कर अच्छा लग रहा है। दुकानों पर भीड़ है और फिर से खरीदारी शुरू हुई है। मुझे भी बहुत कुछ खरीदना है। वहीं दीवान का बाजार के डॉक्टर शबाहत खान कहते हैं कि  बाजारों को खुला देखकर अच्छा लग रहा है। भीड़ एकदम से बढ़ गई है। ऐसे में हमें पूरी सतर्कता के साथ खरीदारी करनी होगी।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस