Move to Jagran APP

मुरादाबाद में लाल निशान लगाने के बाद चला बुलडोजर, सड़क पर बनी फैक्ट्री के अवैध हिस्से को भी तोड़ा

नाले नालियां ग्रीन बेल्ट को घरों दुकानों फैक्ट्रियों के भीतर लेने वालों के प्रति नगर निगम सख्त हो गया है। शनिवार को पुराना रामपुर रोड पर नाले पर बनी एक निर्यातक की फैक्ट्री के अवैध रूप से बने कुछ हिस्से को नगर निगम ने तोड़ दिया। वहीं ग्रीन बेल्ट व फुटपाथ पर पक्के निर्माण व खोखों को तोड़ने के लिए बुलडोजर चला तो लोग हंगामे पर उतारू हो गए।

By Tej Prakash Saini Edited By: Aysha Sheikh Published: Sun, 09 Jun 2024 02:23 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 02:23 PM (IST)
मुरादाबाद में लाल निशान लगाने के बाद चला बुलडोजर, सड़क पर बनी फैक्ट्री के अवैध हिस्से को भी तोड़ा

जागरण संवाददाता, मुरादाबाद। नाले, नालियां, ग्रीन बेल्ट को घरों, दुकानों, फैक्ट्रियों के भीतर लेने वालों के प्रति नगर निगम सख्त हो गया है। शनिवार को पुराना रामपुर रोड पर नाले पर बनी एक निर्यातक की फैक्ट्री के अवैध रूप से बने कुछ हिस्से को नगर निगम ने तोड़ दिया। वहीं ग्रीन बेल्ट व फुटपाथ पर पक्के निर्माण व खोखों को तोड़ने के लिए बुलडोजर चला तो लोग हंगामे पर उतारू हो गए।

भीड़ इकट्ठा हो गई। ग्रीन बेल्ट में कब्जे के कारण इसका सुंदरीकरण रुका हुआ है। मुख्य अभियंता डीसी सचान के नेतृत्व में अभियान चलाया गया। प्रभात मार्केट से कटघर रेलवे स्टेशन को जाने वाले पुराना रामपुर रोड पर एक निर्यातक ने सड़क का छह मीटर हिस्सा फैक्ट्री में ले रखा है और नाले भी फैक्ट्री के भीतर कर लिया। यही नहीं फैक्ट्री की बिजली आपूर्ति के लिए पूरा काम्पेक्टर सिस्टम सड़क के अवैध हिस्से में लगा रखा है। जिससे इस नाले की सफाई न होने से कटघर के कई मुहल्लों में जलभराव की समस्या से लोग परेशान रहते हैं।

सोमवार तक का मिला समय

शनिवार को नगर निगम ने टीम ने सड़क बने अवैध हिस्से को तोड़ना शुरू कर दिया। तभी निर्यातक की ओर से स्वयं अतिक्रमण हटाने को यह कहते हुए मोहलत मांगी कि बिजली विभाग से आपूर्ति का सिस्टम हटाने को आवेदन किया है। इसके हटने के बाद स्वयं तोड़ देंगे। सोमवार तक स्वयं हटाने को समय दिया गया है। ग्रीन बेल्ट में रखा एक खोखा रखा है। नगर निगम ने कुछ लोगों द्वारा स्वयं अतिक्रमण हटाने की मोहलत मांगी तो उन्हें सोमवार तक का समय दिया गया है।

अगर सोमवार तक अतिक्रमण नहीं हटाया तो नगर निगम की टीम दोबारा जाकर हटाएगी। पहले ही लाल निशान लगाकर चेतावनी दी जा चुकी है। इसके बाद भी स्वयं नहीं हटा रहे हैं। - डीसी सचान, मुख्य अभियंता, नगर निगम


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.