मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Azam Khan News : रामपुर  सांसद आजम खां के खिलाफ यतीमखाना प्रकरण के 12 मुकदमों में गुरुवार को सुनवाई नहीं हो सकी। अब अदालत इन मामलाें में 11 नवंबर को सुनवाई करेगी। सपा सरकार में शहर कोतवाली क्षेत्र में स्थित यतीमखाना की जगह पर बने मकानों को जबरन खाली कराया गया था। बाद में इन मकानों को तोड़ दिया गया।

भाजपा सरकार आने पर इन मकानों में रहने वाले लोगों ने 12 मुकदमे दर्ज कराए थे। इन मकानों को सांसद के इशारे पर पुलिस और सपाइयों द्वारा तोड़ने, मारपीट करने और सामान लूट ले जाने का आरोप लगाया था। इन मुकदमों की एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई चल रही है। गुरुवार को अधिवक्ताओं के न्यायिक कार्य न करने के कारण सुनवाई नहीं हो सकी। इसके अलावा हमसफर रिसोर्ट में बिजली चोरी के मामले में भी सुनवाई होनी थी, जो अब शुक्रवार को होगी।

बाढ़ पीड़ितों की तत्काल मदद करे सरकार : समाजवादी पार्टी के विधायक नसीर खां नेे चमरौआ क्षेत्र में बाढ़ग्रस्त गांव का दौरा किया। ग्रामीणों से मिलकर उनका दर्द जाना और सरकार से तत्काल मदद कराने की मांग की।विधायक ने खिजरपुर, हकीमगंज, मिश्रीनगर, खौद, बहादरगंज, नवाबगंज, रतनपुरा, इमरता, सींगनखेड़ा आदि गांव का दौरा किया। कई गांव में पानी भरा होने के कारण अंदर तक नहीं जा सके। इस कारण बाहर सड़कों पर जमा लोगों से बातचीत की। ग्रामीणों ने बताया कि उनका सारा सामान बाढ़ से तबाह हो गया है। घर में रखा अनाज, कपड़े, कीमती सामान पानी में डूब गया। विधायक ने कहा कि उनकी मदद कराने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे। सरकार को फौरन बाढ़ पीड़ितों की मदद करनी चाहिए, क्योंकि बाढ़ में लोगों का सब कुछ तबाह हो चुका है। न घर में सामान बचा है और न खेतों में फसलें। इसलिए सरकार प्राथमिकता से नुकसान का आकलन कराए और इसकी भरपाई कराए ताकि ग्रामीणों का दुख दूर हो सके। उन्होंने कहा कि जगह-जगह बांध टूट गए हैं और सड़कें कट गई हैं। इसकी मरम्मत कराई जाए और ग्रामीणों के इलाज की बेहतर व्यवस्था कराई जाए, क्योंकि बाढ़ के बाद बीमारियां तेजी से फैलती हैं। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ओमेंद्र चौहान ने भी बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया।

Edited By: Narendra Kumar