मुरादाबाद, जेएनएन। ज‍िले के नया मुरादाबाद स्थित ब्राइट स्टार हॉस्पिटल में प‍िछले दो द‍िनों में 11 कोरोना संक्रम‍ित मरीजों की मौत हो गई। स्‍वजनों ने ऑक्‍सीजन की कमी से मौत होने का आरोप लगाते हुए हंगामा क‍िया। वहीं अस्‍पताल प्रबंधन का दावा है क‍ि अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की कोई कमी नहीं है। ये मौतें एक-एक से दो-दो घंटे के अंतराल पर हुईं हैं। जांच में भी अस्‍पताल में पर्याप्‍त मात्रा में ऑक्‍सीजन होने की पुष्टि हुई है। 

नया मुरादाबाद स्थित ब्राइट स्टार हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों को भर्ती कर उनका इलाज क‍िया जा रहा है। कल से लेकर आज तक कुल 11  मरीजों की जान चली गई। पर‍िवार के लोगों तक यह खबर पहुंची तो उन्‍होंने अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की कमी का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर द‍िया। ज‍िले के आला अधिकार‍ियों में भी खलबली मच गई। स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग से लेकर प्रशासन के अधिकारी तत्‍काल हरकत में आ गए। पुलिस ने स्‍वजनों को समझाकर उन्‍हें शांत करा द‍िया है। 

20 की मौत होने की फैली थी अफवाह : डीएम राकेश कुमार स‍िंह 

डीएम राकेश कुमार स‍िंह ने बताया क‍ि यह अफवाह फैली थी कि अस्‍पताल में 20 लोगों की मौत हो गई है लेकिन वहां ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। अधिकारियों को इसी बात की जांच के लिए भेजा गया था। अगर ऑक्सीजन की कमी से मौत होती तो जो मरीज वेंटीलेटर पर थे और जो पाइप पर न‍िर्भर थे उनकी भी मौत हो जाती। एक लाइन से जितने मरीज लगे हुए थे, अगर आक्सीजन की कमी होती तो उस लाइन में सभी को दिक्कत होती लेक‍िन अलग-अलग बिस्तर पर मौत हुई। इसके ल‍िए ऑक्सीजन की कमी को ज‍िम्‍मेदार नहीं माना जा सकता है। गहनता से मामले की जांच जारी है

सीईओ बोले-अस्‍पताल में नहीं है ऑक्‍सीजन की कमी

ब्राइट स्टार अस्पताल के सीईओ डॉ. श्रीधर ने बताया कि अस्‍पताल में ऑक्सीजन की कमी नहीं है। दो दिन में 11 मरीजों की मौत हुई है। ये मौतें एक-एक, दो-दो घंटे के अंतराल पर हुईं हैं। 

इसरो में वैज्ञानिक के पिता की भी मौत 

ब्राइट स्टार में मरने वालों में एक व्‍यक्ति का बेटा इसरो में वैज्ञानिक है। घटना के बाद से सभी स्‍‍वजनों का रो-रोकर बुुुरा हाल हैैै। अस्‍पताल पर‍िसर में हर जगह लोगों की चीत्‍कार सुनाई दे रही है। 

काफी देर तक मची रही अफरातफरी 

दो द‍िन से हुई मरीजोंं की मौत से पर‍िवार के लोग बदहवास हैं। सूचना पर काफी संख्‍या में लोग अस्‍पताल पर‍िसर में पहुंच गए थे। इससे काफी देर तक अफरातफरी मची रही। 

Edited By: Narendra Kumar