अमरोहा, जेएनएन। एसीएमओ के औचक निरीक्षण के दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चार वर्ष पूर्व एक्सपायर हो चुकी बड़ी संख्या में नैपकिन पाई गई हैं। चिकित्सक अभी भी इनका इस्तेमाल कर रहे थे। महकमे की बदनामी के डर से संबंधित अधिकारी मामले को दबाने में लगे हैं।

एसीएमओ डॉ. हरिदत्त नेमी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जोया का औचक निरीक्षण किया। जिसमें उन्होंने सफाई-व्यवस्था लेकर मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी की। इसके बाद उन्होंने निरीक्षण के दौरान बड़ी संख्या में प्रसूता महिलाओं पर इस्तेमाल हो रही एक्सपायरी नैपकिन की खेप पकड़ी। ये छह कट्टों में भरी हुई थी। इसकी एक्सपायरी डेट जनवरी 2016 थी। जिन्हें अब भी मरीजों पर इस्तेमाल कर उनके जीवन के साथ खुला खिलवाड़ किया जा रहा था। इससे अस्पताल में हड़कंप मच गया। फिलहाल महकमे की बदनामी होने के डर से अधिकारी कोई कार्रवाई करने के बजाय मामले को दबाने में लगे हैं। एसीएमओ डॉ. हरिदत्त का कहना है कि यह नैपकिन पिछली सरकार के समय की है। इन पर साइकिल का चिह्न छपा है। इनका इस्तेमाल नहीं हो रहा है। 

 धनौरा में एक्सपायरी दवा का पकड़ा था जखीरा 

सीएमओ डॉ. रमेश चंद शर्मा ने पिछले वर्ष औचक निरीक्षण के दौरान बड़ी मात्रा धनौरा सीएचसी में भी एक्सपायरी दवाओं का जखीरा पकड़ा था। जिसमें जांच एसडीएम को सौंपी गई थी और डीएम को भी अवगत कराया गया था। बावजूद इसके आज तक चिकित्साधीक्षक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस