जागरण संवाददाता, जमालपुर (मीरजापुर) : जमालपुर ब्लाक के गुलौरी गांव का तालाब आम लोगों के लिए नजीर साबित हो रहा है। भीषण गर्मी के बावजूद गांव के लोगों की जागरुकता के कारण इस तालाब को पानी से भरा गया। एक तरफ जहां गांव के गांव तालाब सूख गए वहीं गुलौरी का तालाब लबालब रहा जिससे गांव के हैंडपंप भी चलते रहे। वहीं डूही गांव के प्रधान की पहल पर आठ बिस्वा में तालाब की खुदाई कराकर वर्षा जल संचयन के लिए तैयार किया गया है।

------------ आओ गढ़ें तालाब

श्रमदान से आठ बिस्वा तालाब जल संचयन को तैयार

विकास खंड के डूही गांव के आयुर्वेदिक चिकित्सालय के पास करीब आठ बिस्वा तालाब की साफ-सफाई ग्राम प्रधान जय प्रकाश सिंह के साथ ही साथ ग्रामीणों ने श्रमदान कर किया। प्रधान संग ग्रामीणों ने बरसात से पूर्व तालाब का गहरीकरण करने के लिए तालाब के तलहटी की खुदाई कर मिट्टी को भीटें पर रखा। ग्रामीणों ने बताया कि तालाब का गहरीकरण कर देने से तालाब में पहले से ज्यादा पानी इकट्ठा होगा और फसलों की सिचाई करने में सुविधा होगी। समय- समय पर तालाब में जल भराई का कार्य ग्राम पंचायत द्वारा कराया जाता है।

------------------- आओ भरें तालाब

गुलौरी गांव के तालाब में भरा लबालब पानी, बना नजीर

जमालपुर ब्लाक के गुलौरी गांव का तालाब भीषण गर्मी के मौसम में भी पानी से लबालब भरा हुआ है जिससे गांव का जलस्तर बराबर बना रहता है। तालाब में पानी भरा रहने से पेयजल की समस्या कभी उत्पन्न नहीं होती और पशुओं को भी पानी के लिए भटकना नहीं पड़ता है। ग्राम पंचायत और ग्रामीण हमेशा तालाब को साफ- सुथरा एवं स्वच्छ रखने के लिए विशेष अभियान चलाकर तालाब की साफ-सफाई करते रहते हैं। जल से लबालब भरा तालाब गर्मी के भीषण मौसम में लोगों का ध्यान बरबस ही अपनी ओर आकृष्ट करता है। करीब चार बीघे में गांव सभा की भूमि में वित्तीय वर्ष 2006-2007 बना तालाब अपनी उपयोगिता बेहतर तरीके से सिद्ध कर रहा है। गर्मी के भीषण मौसम में जल से भरा तालाब विकास खंड के अन्य गांवों के लिए नजीर बना हुआ है। तालाब के भीटें पर लगे वृक्षों के नीचे उधर से गुजरने वाले राहगीर रूककर आराम फरमाते हैं। तालाब में बरसात का पानी इनलेट के माध्यम से एकत्रित होता है। गरमी के मौसम में तालाब में पानी कम होने पर सबमर्सिबल द्वारा भरा जाता है।

------------ कहां गए तालाब

दो बीघे का तालाब पांच बिस्वे में सिकुड़ा, पानी भी दूषित

जमालपुर ब्लाक मुख्यालय से मात्र तीन सौ मीटर दूर जमालपुर ग्राम पंचायत के राजस्व गांव सेमरा का एक मात्र तालाब अतिक्रमण का शिकार है। अतिक्रमणकारियों के अवैध कब्जे से दो बीघे का तालाब सिकुड़ कर पांच बिस्वे का रह गया है। ग्राम सभा की भूमि पर करीब 1982-1983 में बना गांव का लगभग 35 वर्ष पुराना तालाब अपने अस्तित्व बचाए रखने की लड़ाई लड़ रहा है। तालाब का निर्माण जलस्तर को बनाए रखने के उद्देश्य से किया गया था लेकिन वर्तमान में तालाब का जल दूषित हो गया है। तालाब को पाटने एवं तालाब में गंदगी फेंकने की होड़ लगी हुई है। दिन प्रतिदिन अतिक्रमण से तालाब कराह रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि पहले तालाब के जल से लोग दाल पकाते थे और सुबह स्नान कर तालाब के बगल में स्थित शिवालय में जलाभिषेक करते थे। समय चक्र के साथ ही साथ तालाब की दशा बदल गई। अब तालाब गंदगी से पटा हुआ है। तालाब किनारे बसे लोग तालाब को तेजी के साथ पाट रहे है और घर की गंदगी तालाब में डाल रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि वर्तमान समय में जितना तालाब बचा है अगर उसे ही संरक्षित कर जल से भर दिया जाए तो बड़ी उपलब्धि होगी।

-----------------

लोग बोले

तालाबों पर से अतिक्रमण हटाया जाना अति आवश्यक है। तालाब भूमिगत जल स्तर को मेंटेन करने का सबसे कारगर माध्यम है। इस पर ध्यान देना चाहिए।

- वीरेंद्र कुमार पांडेय

----------------------------

अतिक्रमणकारियों पर समुचित कार्रवाई न हो पाने के कारण अतिक्रमण करने की होड़ मची हुई है। ग्राम पंचायत एवं प्रशासन को तालाब को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए बेहतर प्रयास करना चाहिए।

- बलिराम खरवार

--------------------------

तालाबों पर से अतिक्रमण हटाकर तालाबों को जल से भरा जाना नितांत आवश्यक है क्योंकि जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। आज तालाबों को जीवित करने का समय है।

- मल्लू पाल

----------------------

तालाबों के निर्माण से कर्तव्य की इतिश्री नहीं होनी चाहिए। उसके संरक्षण का दायित्व भी सभी लोगों को मिलकर उठाना पड़ेगा तभ्ज्ञी आने कल के लिए हम पानी बचा पाएंगे।

- राजेंद्र बियार

----------------------

सभी तालाबों में इनलेट सिस्टम का विकास किया जाना चाहिए ताकि तालाब को समय समय-समय पर अन्य जल स्त्रोतों के माध्यम से सुगमता पूर्वक भरा जा सके।

- पिटू सिंह

---------------------------

जल संरक्षण की जिम्मेदारी केवल शासन तथा प्रशासन के बूते पूरी नहीं हो सकती। आम जनमानस को जल संरक्षण के लिए सकारात्मक सहयोग देना पड़ेगा तभी राष्ट्रीय स्तर पर हमारा जल संरक्षण का मिशन पूरा हो सकता है।

- रंगनाथ द्विवेदी

----------- ब्लाक में तालाबों की मौजूदा स्थिति

कुल तालाब : 327

अतिक्रमण के शिकार : 123

आदर्श तालाब : 28

सफाई कार्य जारी : 25

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप