जागरण संवाददाता, जिगना (मीरजापुर) : छानबे क्षेत्र के नीबी गहरवार सम्मीलीयन विद्यालय के छत से टपकते पानी दुर्घटना को दावत दे रहे है। आक्रोशित अभिभावकों ने आरोप लगाया कि कई बार विभागीय अधिकारियों को समस्या से अवगत कराया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

विद्यालय के दो कक्ष व पूर्व माध्यमिक के तीन कक्ष हल्के बरसात में भी टपकने लगते है। 2009-10 में बने विद्यालय भवन की छत दरक कर जर्जर हो गई है। इससे बरसात के मौसम में बच्चों की पढ़ाई बाधित होती है। क्षेत्र के सुरेश सिंह, कुंज बिहारी सिंह, श्रीकृष्ण सिंह, रामसागर सिंह, साधना सिंह, पूनम गौड़, मीना सिंह, इकबाल सिंह आदि अभिभावकों ने बताया कि विद्यालय की जर्जर छत किसी भी समय गिर सकती है। अध्यापक देवेंद्र प्रताप सिंह व सप्तर्षि कुमार दुबे ने कहा कि छत टपकने से छात्रों को सामूहिक रूप से बैठाकर पढ़ाया जाता है। ग्राम प्रधान माधुरी सोनकर ने बताया कि इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से कई बार की जा चुकी, उसके बावजूद विभागीय उच्चाधिकारी भवन देखना तक उचित नहीं समझे, किसी भी समय बड़ी घटना से नकारा नहीं जा सकता।

Edited By: Jagran