-न्यूनतम तापमान छह तो अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया

- हवा की वजह से बेदम रहीं सूर्य की किरणें

-यात्री रहे बेहाल, अलाव बना सहारा, सड़कें रहीं वीरान

फोटो: 25 व 26 सी। जागरण संवाददाता, मीरजापुर : शीतलहर के आगे सूर्य का दर्शन भी लोगों को कांपने से रोक नहीं सका। बुधवार को पूरे दिन धूप निकली रही, लेकिन गलन भरी ठंड से राहत नहीं मिल सकी। हालात यह रही कि शाम ढलते-ढलते गलन काफी बढ़ गया। बुधवार को न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस तो अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बुधवार की सुबह नौ बजते-बजते धूप के दर्शन तो हो गए, लेकिन दिन भर चली शीतलहर के चलते गलन से निजात नहीं मिल सकी। हवाओं का असर ऐसा हुआ कि दिन में धूप होने के बाद भी न्यूनतम तापमान लुढ़क गया। शाम होते ही गलन के चलते बाजारों व सड़कों से भीड़ गायब हो गई। दिन भर भीड़ से पटा रहने वाला कलेक्ट्रेट, कचहरी, रमईपट्टी, सिविल लाइन व अस्पताल रोड पर शाम होते ही सन्नाटा छा गया। पूरे दिन लोग ऊनी कपड़ों में लिपटे रहे। ठंड से निजात पाने के लिए लोग अलाव का सहारा लेते नजर आए। ठंड के चलते आमजनों की मुश्किलें बढ़ गई है। खासतौर पर छोटे बच्चों व बुजुर्गों को ठंड से बचाने के प्रयास में स्वजन लगे रहे। आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार सर्दी का तेवर अभी ऐसे ही बनो रहेगा। कोहरा भी आता-जाता रहेगा। ---

घर की छत व आंगन में लिया धूप का आनंद

चुनार : लगातार कई दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड के बीच बुधवार का दिन लोगों के लिए राहत भरा रहा। पूर्वाह्न करीब 11 बजे के आसपास धूप निकली तो थोड़ा सुकून मिला। लोगों ने घर की छत और आंगन में धूप का आनंद लिया। हालांकि शाम को गलन का असर बढ़ने लगा। पिछले चार दिनों से चल रही शीतलहर के चलते गलन बढ़ गई थी। लोग बिना काम के घरों से बाहर नहीं निकल रहे थे। अलाव और रूम हीटर आदि लोगों का सहारा थे। --- किसान खेत की ओर किए रुख

मौसम की प्रतिकूलता से फसलों की सुरक्षा को लेकर चितित किसानों के चेहरे भी धूप निकलने से खिल गए हैं। मौसम के कुछ ठीक होने पर किसानों ने खेत की ओर रुख किया। आलू और सरसों की फसलों की देखभाल किसानों ने शुरू कर दी है। ---

चट्टी-चौराहों पर जलाया अलाव

जमालपुर : अन्नदाता मंच के किसानों ने बुधवार की शाम भाईपुर बैरियर एवं ढ़ेबरा चट्टी पर आम लोगों को ठंड से राहत देने के लिए अलाव जलाया। शीतलहर से लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। इस दौरान संरक्षक रमेश सिंह, सुरेंद्र प्रताप सिंह, अमित सिंह, राजन गुप्ता, संतोष सिंह, दीपेश सिंह, विनोद कुमार, मुन्ना सिंह, नवीन जायसवाल आदि थे।

Edited By: Jagran