जागरण संवाददाता, मीरजापुर : अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य-दिव्य मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पांच अगस्त को भूमि व शिलापूजन के साथ मंदिर की आधारशिला रखते ही पूरा देश राममय नजर आएगा। विध्यक्षेत्र भी इस पल को संजोने के साथ ही खुशियां मनाने को तैयार है। विश्व हिदू परिषद, समाजसेवी संगठन सहित आम जनमानस पांच अगस्त को घर-घर दीप जलाकर दीपावली मनाएंगे।

त्रेतायुग में भगवान श्रीराम के 14 वर्ष वनवास के बाद अयोध्या पहुंचने पर भारतीय क्षेत्र में खुशियां मनाई गई थी। हर भारतीय और हिदू का रोम-रोम पुलकित हो गया था लेकिन कलयुग में पांच सौ वर्षों का वनवास काटकर अपनी मातृभूमि पर स्थापित होने जा रहे श्रीराम का गुणगान विश्व के कोने-कोने में होगा। पूरी दुनिया पांच अगस्त को उत्तर प्रदेश के गौरवशाली क्षण का एहसास करेगी। पांच सौ वर्ष बाद वह शुभ घड़ी आई है, जिसका हिदू समाज को बेसब्री से इंतजार था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए आधारशिला रखते ही विध्यक्षेत्र भी भगवामय नजर आएगा और दीपोत्सव जैसा माहौल दिखेगा। विश्व हिदू परिषद के जिलाध्यक्ष रामचंद्र शुक्ल ने बताया कि श्रीराम मंदिर आंदोलन में लाखों लोगों ने बलिदान दिया है। यह सभी के लिए गर्व की बात है। दीपावली बिन अयोध्या की कल्पना नहीं हो सकती, इसलिए पांच अगस्त को हर घर पर दीपक जलाया जाएगा। साथ ही भगवान राम की आरती कर श्रीराम जय राम, जय-जय राम महामंत्र के 13 माला की जाप कर खुशियां मनाई जाएगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस