जागरण संवाददाता, पटेहरा (मीरजापुर) : स्थानीय विकास खंड में रूरल अर्बन मिशन में चयनित 15 ग्राम पंचायतों के खनवर मझारी, ककरद, नेवढि़या, मलुआ, कुहकी, अमोई पुरवा, पटेहरा आदि ग्राम पंचायतों में योजना से कराए गए कार्यो की परख करने परियोजना निदेशक ऋषिमुनि उपाध्याय मंगलवार को पहुंच गए। जिसमें समूहों के गठन से वित्तपोषित अमोई पुरवा समूह की रामदुलारी देवी की पिकअप व पिउरी समूह के संध्या का इलेक्ट्रिक पार्ट की दुकान देख दोनों के इनकम पर वार्ता करते हुए समूह की महिलाओं द्वारा विद्यालयों में सिले गए ड्रेस की प्रगति व भुगतान को जाना। क्षेत्र के लोगों ने आरोप लगाते हुए बताया कि अमोई पुरवा में 24 लाख 30 हजार की लागत से वर्ष 2018-19 में निर्मित शवदाह गृह का निर्माण कराया गया था लेकिन परियोजना निदेशक को उसकी फटी दीवार नहीं दिखी जिसे बखूबी पेंट से ढक दिया गया था। बगल में अपने आप पर आंसू बहा रहा ग्राम पंचायत का सामुदायिक भवन को भी नहीं देख सके। जिसमें खिड़की व दरवाजा गायब होने के साथ फर्श भी नहीं बना है। इस मौके पर एपीओ राजेश कुमार, डीएमएम सरोज पांडेय, बीडीओ दिनेश कुमार मिश्र, एडीओ सूर्यनरायन पांडेय, प्रधान अजय कुमार व प्रधान प्रतिनिधि अक्षय कुमार सिंह मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस