जागरण संवाददाता, पटेहरा (मीरजापुर) : मड़िहान क्षेत्र के पड़रिया कला के गिधनहा मौजा के पास पहड़ी पर रविवार की भोर में खुले आसमान के नीचे कपड़ा में लपेटकर सूप में रखी नवजात मिलने पर गांव में हड़कंप मच गया। महिला ने नवजात के पालन पोषण करने की गुहार लगाई तो ग्राम प्रधान ने महिला की ममता देख लिखापढ़ी के साथ नवजात को सौंप दिया।

गांव निवासी सियाराम पहड़ी की तरफ शौच के लिए गए थे। गांव से लगभग 200 मीटर दूर सुनसान स्थान पर नवजात के रोने की आवाज सुनाई दी। पास जाकर देखा तो एक सूप में कपड़े से लिपटी नवजात ठंड से रो रही थी। सियाराम ने घर आकर अपने बहू दीपा पत्नी महेंद्र को बताई। नवजात के मिलने की सूचना गांव में जंगल में आग की तरह फैल गई। मौके पर पहुंची दीपा ने नवजात को उठाकर सीने से लगाया और घर ले आई।

ग्राम प्रधान पति संतोष तिवारी ने मड़िहान पुलिस को नवजात मिलने की सूचना दी। पुलिस की सूचना पर दीपा नवजात को पालने और अपने पास रखने की गुहार लगाने लगी। दीपा की ममता को देख ग्राम प्रधान विभा तिवारी ने लिखित रूप से नवजात को उसे सौंप दिया। इसके बाद दीपा ने नवजात के लालन पालन में जुट गई। ग्राम प्रधान ने दीपा की ममता को देखकर नवजात के लालन पालन के लिए सहयोग राशि भी दिया।

Edited By: Jagran