जागरण संवाददाता, ड्रमंडगंज (मीरजापुर) : हलिया क्षेत्र में अघोषित कटौती व लो-वोल्टेज की समस्या से विद्युत उपभोक्ताओं में आक्रोश हैं। बिजली विभाग द्वारा लो-वोल्टेज के साथ मनमानी कटौती की जा रही है। जिससे लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी पेयजल की हो रही है। चौबीस घंटे में मात्र आठ घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है उसमें भी लो-वोल्टेज व दर्जनों बार ट्रिपिग की समस्या बनी हुई है। लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के लेागों ने विद्युत आपूर्ति रोस्टर के हिसाब से करने की मांग की है। मांग पूरा न होने पर उपकेंद्र पर प्रदर्शन की चेतावनी दी।

लोकसभा चुनाव बाद से हलिया क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति के नाम मात्र की जा रही खानापूर्ति से उपभोक्ताओं को गर्मी में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी पेयजल को लेकर उठाना पड़ रहा है। मतवार न्याय पंचायत तथा उमरिया न्याय पंचायत के गांवों में अधिकांश हैंडपंपों ने पानी छोड़ दिया है। वही सबमर्सिबल के सहारे टैंकरों में पानी भर कर आपूर्ति की जा रही है लेकिन विद्युत का आलम यह है कि दिन में लो वोल्टेज तथा ट्रिपिग से लोग परेशान हैं। रात में अंधाधुंध कटौती हो रही है जिससे लोगों को मुश्किल से 8 से 10 घंटे ही बिजली मिल पा रही है। वहीं बिजली विभाग 18 घंटे आपूर्ति का दावा करती है। शाम होते ही बिजली की आंख मिचौली शुरू हो जाती है जो रातभर जारी रहती है।  वहीं बिजली कब आएगी कब जाएगी किसी को पता नहीं है। यही स्थित विद्युत उपकेंद्र बरौंधा का भी है जहां बिजली के लिए लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। भाजपा मंडल कोषाध्यक्ष धीरज केशरी का कहना है कि बिजली रोस्टर के हिसाब से नहीं मिल पा रही है जिससे लोगों को पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा है।

-

आंधी पानी से देवरी उपकेंद्र के अधिकतर पोल टूट गए थे जिसके कारण बिजली आपूर्ति में परेशानी हो रही है। नब्बे प्रतिशत पोल ठीक हो गए हैं, जल्द ही विद्युत आपूर्ति शुरू करा दी जाएगी।

-राजेंद्र प्रसाद, अवर अभियंता हलिया

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस