Move to Jagran APP

यूपी में क‍िसानों के ल‍िए खुशखबरी, अब सब्‍स‍िडी के ल‍िए नहीं करना पड़ेगा इंतजार

किसानों को राजकीय बीज गोदामों से मनपसंद बीज पीओएस मशीन से अनुदानित दर पर खरीद सकते हैं। वर्तमान में किसान को प्रति क्विंटल मूल्य के सापेक्ष अनुदान की धनराशि को काटकर सिर्फ किसान को अपना अंश ही जमा करना पड़ेगा। वर्तमान में खरीफ सीजन में धान का कुल आवंटन 865 क्विंटल है इसके सापेक्ष 625.80 क्विंटल धान का बीज प्राप्त हो चुका है।

By Arun Kumar Mishra Edited By: Vinay Saxena Sat, 01 Jun 2024 04:00 PM (IST)
किसानों को राजकीय बीज गोदामों से मनपसंद बीज पीओएस मशीन से अनुदानित दर पर खरीद सकते हैं।

जागरण संवाददाता, मीरजापुर। किसानों को बीज की सब्सिडी के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा। बीज खरीदते समय ही किसानों को अनुदान मिलेगा। जिला कृषि अधिकारी अवधेश कुमार यादव ने बताया कि वित्तीय वर्ष खरीफ 2024 से शासन ने नई व्यवस्था लागू किया है। किसानों को राजकीय बीज गोदामों से मनपसंद बीज पीओएस मशीन से अनुदानित दर पर खरीद सकते हैं। वर्तमान में किसान को प्रति क्विंटल मूल्य के सापेक्ष अनुदान की धनराशि को काटकर सिर्फ किसान को अपना अंश ही जमा करना पड़ेगा।

वर्तमान में खरीफ सीजन में धान का कुल आवंटन 865 क्विंटल है, इसके सापेक्ष 625.80 क्विंटल धान का बीज प्राप्त हो चुका है। किसान राजकीय बीज गोदाम सिटी, गैपुरा, चील्ह, कछवां, पहाड़ी, लालगंज, हलिया, पटेहरा कला, राजगढ़, सीखड़, बरेवां, जमालपुर में प्राप्त कर सकते हैं।

मानक के अनुरूप क‍िया जा रहा बीज व‍ितरण

किसानों को मानक के अनुरूप धान एमटीयू 7029, नाटी मंसूरी, स्वर्णा सब एक, सिआट्स, बीपीटी 5204, एचयूआर 917, सिआट्स और सीओ 51 बीज वितरण किया जा रहा है। बताया कि उर्वरक व्यवसायी आगामी खरीफ सीजन में व्यापार सिर्फ पीओएस मशीन से ही करें।

किसान को कृषक जोत व खतौनी के अनुसार ही उर्वरक का वितरण करें। सभी उर्वरक और बीज व्यवसायी अपने स्टॉक और बिक्री का अंकन, स्टॉक रजिस्टर और बिक्री रजिस्टर में अवश्य करें। एक सप्ताह में स्टॉक रजिस्टर और बिक्री रजिस्टर का सत्यापन जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में अवश्य करा लें।

यह भी पढ़ें: UPPCL: यूपी में 50 हजार किसानों ने किया मुफ्त बिजली योजना के लिए आवेदन, इस तारीख तक आप भी कर सकते हैं आवेदन

यह भी पढ़ें: Driving Licence: निजी संस्थानों में इस तारीख से बनवा सकेंगे ड्राइविंग लाइसेंस, RTO के चक्कर लगाने से मिलेगा छुटकारा