जागरण संवाददाता, चील्ह (मीरजापुर) : कोन विकास खंड क्षेत्र में तीव्र गति से बढ़ रही गंगा बाढ़ का पानी किसानों की खेती चौपट करते हुए गांव की घरों में घुस गया है। जिसके कारण पीड़ित परिवार अपने सामानों को सुरक्षित करने में लगे हुए हैं। गंगा बाढ़ के कारण लोग पशुओं और परिवार के लोगों को बचाने की जुगत में लग हुए है। हालांकि अभी भी तमाम लोग तथा सैकड़ों पशु मझरा में फंसे हुए है। वही गंगा बाढ़ की हालात की जानकारी लेने एडीएम तथा एसडीम सदर हरसिंहपुर और मल्लेपुर का दौरा किया।

गंगा बाढ़ का पानी क्षेत्र के तीन तरफ से एक साथ गांव की तरफ बढ़ रही हैं लोगों की निगाहें गंगा बाढ़ पर लगी हुई है। क्षेत्र के हरसिहंपुर, मल्लेपुर तथा बल्ली परवा के हरिजन बस्ती, कॉलोनी को चारों तरफ से बाढ़ का पानी घेर लिया है। हरसिहंपुर व मल्लेपुर गांव के लोगों का गृहस्थी का तमाम सामान बाढ़ के पानी से नुकसान हो गया है। नाव की व्यवस्था न होने के कारण तमाम लोग सोता पार मझरा में फंसे है तथा सैकड़ों पशु भी मझरा में फंसे है और चरवाहा भी पशुओं के साथ है। यहां तक कि गंगा की बाढ़ का पानी क्षेत्र के पुरजागीर, कंपनीघाट मार्ग पर बल्लीपरवा गांव के सामने बाढ़ का पानी चलना शुरू हो गया है। इसके अतिरिक्त धौराहरा, खुलुआ, मुजेहरा कला, चेकसारी, बल्ली परवा आदि गांव में भी गंगा बाढ़ का पानी सट गया है। अब तक क्षेत्र की काफी फसल नुकसान हो चुकी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप