जागरण संवाददाता, मीरजापुर : बिजली विभाग के जीपीएफ एवं सीपीएफ में हुए घोटाले को लेकर राज्य सरकार द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाने पर विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वावधान में कर्मचारियों ने दूसरे दिन भी कार्य बहिष्कार किया। कर्मचारियों ने कहा कि केंद्रीय पदाधिकारियों की चेयनमैन एवं ऊर्जामंत्री से कई बार वार्ता हुई। परंतु शासन की ओर अबतक आश्वासन ही दिया गया। घोटाले की धनराशि कारपोरेशन को वापस नहीं किया गया। आरोपी आईएएस चेयरमैन को गिरफ्तार भी नहीं किया गया। जिसको लेकर कर्मचारियों में आक्रोश है। चेताया कि घोटाले का पैसा वापस नहीं किया गया तो कर्मचारी हड़ताल करने को बाध्य होंगे।

कहा गया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बावजूद भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों के खिलाफ अबतक सीबीआई की ओर से जांच शुरू नहीं नहीं किया गया है। कर्मचारियों के भविष्य निधि धनराशि के सुरक्षा की जिम्मेदारी अब तक सरकार द्वारा नहीं लिया गया जिससे कर्मचारी ने दूसरे दिन भी कार्य बहिष्कार किया। इस दौरान राजेश श्रीवास्तव, पीपी कठेरिया, मनोज यादव, एके सिंह, विजयेंद्र सिंह, सुमित यादव, विपिन पटेल, अभय सिंह, विनीत सिंह, अनुराग अग्रवाल, विनोद कुमार आदि सैंकड़ों कर्मचारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप