जासं, ड्रमंडगंज (मीरजापुर) : हलिया विकास खंड के ग्राम पंचायत गलरा के ग्राम प्रधान अरुण मिश्र ने 19 नवंबर 2019 को तहसील दिवस पर प्रार्थना पत्र सौंपा था। पत्रक में बताया था कि ग्राम पंचायत गलरा में शवदाह तथा चकमार्ग व सेक्टर मार्ग के सुरक्षित जमीन का सीमांकन करा दिया जाए जिससे गांव में मनरेगा के तहत कार्य कराया जा सके। जिलाधिकारी ने तहसीलदार लालगंज, सीओ लालगंज को संयुक्त टीम संग गांव में पहुंचकर जमीन सीमांकन कराने का निर्देश दिया गया था लेकिन आज तक गांव में कोई भी टीम सीमांकन करने के लिए नही पहुंची। दो माह बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होने से लोगों में रोष है। ब्लाक के अधिकारियों द्वारा गांव में मनरेगा के तहत कार्य कराने के लिए बराबर दबाव बनाया जा रहा है। ऐसे में ग्राम प्रधान जमीन का सीमांकन नहीं होने से मनरेगा का कार्य किसी स्थान पर कराये समझ में नहीं आ रहा है। ग्राम प्रधान ने बताया कि शवदाह गृह व चकमार्ग व सेक्टर मार्ग का सीमांकन करा दिया जाय जिससे गांव में मनरेगा के तहत कार्य कराया जा सके जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस