गूंज जागरण संवाददाता, चुनार (मीरजापुर) : शक्ति की अधिष्ठात्री देवी मां दुर्गा के नौ दिनी पूजा-आराधना के सातवें दिन महासप्तमी को बाबा भर्तहरि की नगरी चुनार आस्था व भक्ति की रश्मियों से नहा उठी। शेरो वाली मां की प्रतिमाओं का रूख पंडालों की ओर होते ही चहुंओर दुर्गा सप्तशती के महामंत्रया देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः गूंजा तो पूरा वातावरण ही मां की भक्ति से ओतप्रोत हो उठा, लोगों की आस्था और घनीभूत होती चली गई।

महासप्तमी के दिन नगर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए पूजा पंडालों में रविवार को हवन-पूजन और मंत्रोच्चार के बीच कलश स्थापना के साथ पूजा महोत्सव शुरू हो गया। पूजा कार्यक्रम के साथ ही पूरा नगर रोशनी से नहा गया। शाम से लेकर देर रात तक पूजा पंडालों में देवी का दर्शन-पूजन करने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी। लगातार तीन दिनों तक पंडाल भक्तों से गुलजार रहेंगे।

नगर के गंगेश्वरनाथ, स्टेशन रोड, पीडीएनडी इंटर कालेज, सद्दूपुर मोहाना, गोला बाजार, कैसरबाग, मोची टोला आदि मोहल्लों में पूजा समितियों की तरफ से बनवाए गए पंडालों में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करने के साथ विधिवत हवन-पूजन और मंत्रोच्चार के बीच ब्राह्मणों द्वारा प्रतिमा पर बंधी पट्टी को खोल दिया गया।

बाजारों में भी रौनक बढ़ने लगी है। सुबह से लेकर देर शाम तक माता के जयकारे, भजन आरती सुनायी देती रही। मां दुर्गा का दर्शन कर निहाल हो रहे भक्त राजगढ़ : क्षेत्रों में अलग-अलग स्थानों पर दुर्गा पंडाल सजाया गया, जहां मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर हवन पूजन के साथ दर्शन पूजन रविवार से शुरू हो गया। वही मां का भव्य स्वरूप का दर्शन कर भक्त निहाल हो रहे है।

नदिहार ग्राम सभा के पटेल नगर बाजार में पंडाल में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित हो गई। पुजारी सत्येंद्र सिंह ने बताया कि कोरोना कॉल में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित नहीं हो पाई थी, लेकिन इस साल मां की प्रतिमा स्थापित कर पूजा पाठ किया जा रहा है।

Edited By: Ravindra Bahadur Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट