Move to Jagran APP

10 हजार की रिश्वत ले रहा था वरिष्ठ सहायक, एंटी करप्शन टीम ने किया गिरफ्तार; जिला पंचायत राज ऑफिस में मचा हड़कंप

एंटी करप्शन टीम ने कटरा कोतवाली क्षेत्र के पालिटेक्निक गेट के पास से रविवार के शाम जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में तैनात वरिष्ठ सहायक नंदलाल को 10 हजार रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपित के विरुद्ध भ्रष्टाचार के आरोप में कटरा कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है। रविवार की शाम जैसे ही जटाशंकर को नोट दिया वैसे ही टीम ने पकड़ लिया।

By Prashant Kumar Yadav Edited By: Abhishek Pandey Tue, 28 May 2024 08:49 AM (IST)
एंटी करप्शन ने वरिष्ठ सहायक को दस हजार रिश्वत लेने के आरोप में पकड़ा

जागरण संवाददाता, मीरजापुर। एंटी करप्शन टीम ने कटरा कोतवाली क्षेत्र के पालिटेक्निक गेट के पास से रविवार के शाम जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में तैनात वरिष्ठ सहायक नंदलाल को 10 हजार रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपित के विरुद्ध भ्रष्टाचार के आरोप में कटरा कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

एंटी करप्शन थाने के प्रभारी विनय सिंह ने बताया कि देहात कोतवाली के हरिहरपुर बेदौली गांव के रहने वाले जटाशंकर यादव को किसी मामले में जिला पंचायत राज अधिकारी में निलंबित कर दिया था। उन्होंने हाईकोर्ट में मामला दाखिल किया। जिसपर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने जटाशंकर को बहाल करते हुए उनका वेतन भुगतान करने का आदेश जिला पंचायत राज अधिकारी को दिया।

जटाशंकर कोर्ट के आदेश के बाद बहाल तो कर दिए गए ,लेकिन उसका बकाया वेतन भुगतान नहीं किया जा रहा था। आरोप है कि वेतन भुगतान करने के लिए वरिष्ठ सहायक नंदलाल ने जटाशंकर से 50 हजार रुपये देने मांग की थी। रिश्वत नहीं देने पर वेतन का भुगतान नहीं कराया जा रहा था। इससे तंग आकर जटाशंकर ने मामले की शिकायत एंटी करप्शन मीरजापुर थाने में की।

जिसको गंभीरता से लेते हुए जटाशंकर को केमिकल लगा नोट आरोपित को देने को कहा। रविवार की शाम जैसे ही जटाशंकर को नोट दिया वैसे ही टीम ने पकड़ लिया।

इसे भी पढे़ं: गैंगस्टर मामले में सांसद अतुल राय ने किया सरेंडर, भेजे गए जेल; बताया जान का खतरा