जागरण संवाददाता, गैपुरा (मीरजापुर) : जिगना थाना क्षेत्र के चतुरिया गांव में बुधवार को दोपहर में रिहायशी मड़हा में आग लग गई। इस घटना में नगदी समेत लगभग तीन लाख रुपये का सामान जलकर राख हो गया। वही आग बुझाने के चक्कर में पिता समेत परिवार के चार सदस्य झुलस गए। ग्रामीणों ने चारो को तत्काल सर्रोई स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने पिता की हालत गंभीर देख मंडलीय अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। इस दौरान दो भैंस की मौत हो गई तथा एक गंभीर रूप से झुलस गई। वही ग्रामीणों के सहयोग से आग लगभग तीन घंटे में बुझाया गया।

चतुरिया गांव निवासी भोला पाल का परिवार दोपहर में खाना खाने के बाद पक्के मकान में सभी आराम कर रहे थे। इसी बीच बिजली आ गई और मड़हा में लगी विद्युत तार में शार्ट सर्किट से निकली चिगारी आग का शोला बनकर धू-धू कर जलने लगी। आग लगने की जानकारी मिलते ही परिवार के लोग भागे मड़हा के पास पहुंचे और सामान आदि को बचाने के साथ आग बुझाने का प्रयास करने लगे। दोपहर में तेज हवा चलने के आग विकराल रूप धारण कर लिया और तेज लपटें उठने लगी। इसी बीच आग बुझाने के चक्कर में भोलापाल तथा उनकी पत्नी विदेश्वरी देवी, पुत्र रामकैलाश व पुत्री पूजा आग की जद में आ गए। ग्रामीणों ने आग से झुलसता देख सभी को किसी तरह कंबल व चद्दर फेंकर बचाया और पीएचसी ले गए। जहां पिता भोला पाल को गंभीर देख चिकित्सकों ने मंडलीय अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। पीड़ित के अनुसार गेहूं, चावल, दाल नगदी, चारपाई समेत कुल तीन लाख रुपये का क्षति हुआ है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस