जागरण संवाददाता, गैपुरा (मीरजापुर) : छानबे विकास खंड के जोपा गांव में नवनिर्मित मिनी सचिवालय एक दशक बाद भी ग्राम पंचायत को सुपुर्द नहीं किया गया। ऐसे में वह अब अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। जोपा के प्रधान प्रतिनिधि गोवर्धन ¨सह ने बताया कि एक दशक पूर्व ही गांव में मिनी सचिवालय का निर्माण कराया गया था लेकिन आज तक गांव सभा को स्थानांतरित नहीं किया गया।

उन्होंने बताया कि लगभग 15 लाख की लागत से निर्मित मिनी सचिवालय में स्थानीय ग्रामीणों द्वारा भूसा, उपली रख कर कब्जा किया गया है। वर्तमान में मिनी सचिवालय की छत, फर्श दरक गई वही खिड़की तथा दरवाजे भी कुछ भी नहीं बचे है चोर उठा ले गए। इसके बाद भी मिनी सचिवालय को इंटरनेट से कनेक्ट कर दिया गया है। ग्राम पंचायत की विकास कार्यो की बैठक के लिए प्राथमिक विद्यालय का सहारा लेना पड़ता है। कार्यदायी संस्था व पंचायत विभाग की उदासीनता के चलते गावों में मिनी सचिवालय का सपना अधूरा रह गया। प्रधान प्रतिनिधि गोवर्धन ¨सह ने बताया कि कई बार संबंधित अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराया गया लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

--वर्जन

जानकारी नहीं है पता करते है अगर सुपूर्द नहीं किया गया है तो जांच कराई जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई भी होगी।

विनोद गौंड़,एडीओ पंचायत छानबे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप