मेरठ, जेएनएन। सरधना थाना क्षेत्र के खिर्वा जलालपुर में पुरानी रंजिश के चलते शुक्रवार रात युवक को पेट से सटाकर गोली मार दी, जिसमें वह गंभीर घायल हो गया। जानकारी पर स्वजन पहुंचे और घायल को मेरठ उपचार के लिए ले गए। वहीं, सूचना पर पुलिस पहुंची और मामले की जाच पडताल में जुट गई।

खिर्वा जलालपुर निवासी कामिल हुसैन पुत्र नबी मोहम्मद ने बताया कि छोटे भाई हैदर का बेटा हुमायूं शुक्त्रवार रात उसके यहा से अपने घर जा रहा था। आरोप है कि प्रधान पक्ष के लोगों ने पुरानी रंजिश के चलते उसके पेट से सटाकर गोली मार दी। जिसमें वह गंभीर घायल हो गया। जानकारी पर स्वजन मौके पर पहुंचे और घायल को उपचार के लिए मेरठ ले गए। वहीं, गोली की आवाज से लोग घर से बाहर निकल कर आए तो आरोपित फरार हो गया। उधर, सूचना पर पुलिस की कई गाड़िया पहुंच गई और जाच में जुट गई। इंस्पेक्टर लक्ष्मण वर्मा ने बताया कि मामले की जाच चल रही है। तहरीर मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गत दिनों भी हुआ था विवाद

हैदर मुस्तफा पक्ष के चचेरे भाई का लड़का है। गौरतलब है कि खिर्वा जलालपुर गाव में मुस्तफा और मुनाजिर पक्ष में रंजिश लंबे समय से चल रही है। वर्तमान में मुनाजिर की पत्‍‌नी सायदा बेगम ग्राम प्रधान है और उनका बेटा रजा मेहंदी है। इनके पास गाव निवासी अली अहमद पुत्र इकराम हुसैन काम करता है। बीते दिनों गाव में दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए थे। अली अहमद का आरोप था कि मुस्तफा पक्ष के लोगों ने उसे फोन पर जान से मारने की धमकी दी थी। जब वह अपने घर जा रहा था। तभी आरोपित मुस्तफा पक्ष के लोगों ने मारपीट कर फायरिंग करनी शुरू कर दी थी। वहीं, मुस्तफा पक्ष का कहना था कि 2014 में उनके पक्ष की कमर फातिमा के बेटे रईस अब्बास की हत्या कर दी गई थी। इसमें मुनाजिर पक्ष के लोग फैसले का दबाव बना रहे थे। जब उन्होंने विरोध किया तो आरोपितों ने मारपीट के बाद फायरिंग शुरू कर दी थी। इसके बाद दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए थे और दर्जनों फायरिंग हुई थी। इसके बाद तहरीर नहीं मिलने पर पुलिस ने स्वयं संज्ञान लेकर दोनों पक्षों के दर्जनों लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। ग्राम प्रधान सायदा बेगम के बेटे रजा मेहंदी ने बताया कि सभी आरोप बेबुनियाद है। उसने स्वयं ही खुद को गोली मारी है। अगर आरोप तय हो जाता है तो मैं पुलिस के समक्ष पेश हो जाउंगा।

Edited By: Jagran