मेरठ,जेएनएन। मेडिकल थाना क्षेत्र के प्रवेश विहार से काजीपुर गांव जाने वाले रास्ते पर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। बदमाशों ने पहचान मिटाने के लिए उसके चेहरे को ईट से बुरी तरह कुचल दिया,जिससे उसकी आंख बाहर आ गई और जबड़ा वह नाक पूरी तरह टूट गई। बुधवार की सुबह पुलिस को इस हत्याकांड का पता चला।
नहीं हो सकी पहचान
सूचना पर एसपी सिटी डॉ अखिलेश नारायण सिंह,सीओ सिविल लाइन हरि मोहन सिंह,एसओ मेडिकल कैलाश चंद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। पुलिस ने घटनास्थल से खून से सनी ईंट व दो खोखे बरामद किए हैं। वही एक डिस्कवर बाइक भी मौके से बरामद की गई है। मगर अभी तक मृतक की पहचान नहीं हो सकी है

फॉरेंसिक टीम भी पहुंची
बुधवार सुबह करीब 8:15 बजे कंट्रोल रूम की सूचना पर मेडिकल थाना पुलिस प्रवेश बिहार से काजीपुर गांव की ओर जाने वाले कच्चे रास्ते पर पहुंची। जहां प्लॉट में एक युवक का शव पड़ा हुआ था। चेहरा बुरी तरह कुचला हुआ था। शव से करीब 20 मीटर दूर खून से सनी ईट बरामद हुई,जबकि शव से करीब 70 मीटर दूर 315 बोर के दो खोखे बरामद किए गए। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा दिया। वहीं फॉरेंसिक टीम ने जहां से शव बरामद हुआ था उस जगह की खून से सनी मिट्टी,खून से सनी ईंट और 2 खोखे बरामद कर कब्जे में ले लिए।
बाइक का मालिक निकला अमित चौधरी
घटनास्थल से बरामद डिस्कवर बाइक का रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी 15 एबी 2906 बाइक अमित चौधरी पुत्र ओमवीर सिंह चौधरी निवासी 518/7 जागृति विहार थाना मेडिकल क्षेत्र की है। पुलिस ने अमित चौधरी से मोबाइल पर बात की और बाइक के बारे में पूछा। जिस पर अमित चौधरी ने पुलिस को बताया कि उसने 2009 में बाइक बेच दी थी,मगर वह ट्रांसफर नहीं हो सकी। जिसके बाद पुलिस ने अमित को भी पूछताछ के लिए थाने बुलाया है।
बाइक के बैग से निकली जोश वर्धक दवा
बाइक के बैग से पुलिस ने मैन फोर्स कंपनी कंपनी की एक जोश वर्धक दवा भी बरामद की है। जिसके बाद पुलिस इस हत्याकांड को अवैध संबंध के नजरिए से भी देख रही है और जांच पड़ताल में जुटी है।
अंतिम कॉल गुड़गांव की थी
वहीं मृतक की जेब से एक पर्स और मोबाइल भी बरामद हुआ है। पुलिस ने मोबाइल नंबर के आधार पर आखिरी कॉल मिलाई जो हापुड़ के थाना सिंभावली क्षेत्र का गांव शरीफपुर निवासी मनजीत नगर पुत्र अजब सिंह जो गुड़गांव में होंडा कंपनी में कार्यरत है,से बातचीत की। उसने पुलिस को बताया कि किसी पार्टी के माध्यम से एक दो बार इस नंबर पर बात हुई होगी,मगर यह नंबर किसका है और यह व्यक्ति कौन है,वह नहीं जानता।
इनका कहना है
प्रथम दृष्टया हत्या अवैध संबंधों के कारण प्रतीत हो रही है। मौके से बहुत कुछ चीजें बरामद हुई है।शव की पहचान नहीं हो सकी है। जल्द ही शव की पहचान कर हत्या का राजफाश किया जायेगा। 
- डॉक्टर अखिलेश नारायण सिंह, एसपी सिटी, मेरठ  

Posted By: Ashu Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप