Move to Jagran APP

टीपीनगर पुलिस शेम-शेम... आखिर क्यों मेरठ के लोगों का फूटा गुस्सा? SSP ऑफिस पहुंचकर करने लगे ये मांग

मेरठ में नई बस्ती शिवपुरम के लोग एसएसपी आफिस पर पहुंचे। उनके हाथों में टीपीनगर पुलिस शेम-शेम... लिखे बड़े-बड़े पोस्टर थे। लोगों ने मानव श्रृंखला बनाकर कप्तान से सट्टा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एसएसपी ने मामले की जांच के लिए एसपी सिटी को आदेश जारी कर दिए। बताया कि किशोर तक घरों से पैसे चुराकर सट्टे में लगा रहे हैं।

By sushil kumar Edited By: Aysha Sheikh Tue, 09 Jul 2024 03:33 PM (IST)
सट्टे वालों के खिलाफ एसपी ऑफिस पर प्रदर्शन करते शिवपुरम के लोग

जागरण संवाददाता, मेरठ। टीपीनगर पुलिस शेम-शेम... लिखे बड़े-बड़े पोस्टर लेकर नई बस्ती शिवपुरम के लोग एसएसपी आफिस पर पहुंच गए। मानव श्रृंखला बनाकर कप्तान से सट्टा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एसएसपी ने मामले की जांच के लिए एसपी सिटी को आदेश जारी कर दिए। इसके बाद टीपीनगर पुलिस ने देर रात तक सट्टा कराने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर दुष्यंत और चमन को दबोच लिया। कुछ दिन पहले भी चमन को जेल भेजा गया था।

सोमवार को बड़ी संख्या में टीपीनगर थाना क्षेत्र नई बस्ती और शिवपुरम के लोग एसएसपी आफिस पहुंचे। उनके हाथों में बड़े-बड़े पोस्टर थे। इनमें टीपीनगर पुलिस के खिलाफ आक्रोश साफ नजर आ रहा था। उन्होंने पोस्टरों पर सट्टे वालों के नाम और ठिकाने तक लिख रखे थे। उनका कहना था कि कालोनियों में दुकानों पर बड़े पैमाने पर सट्टा हो रहा है।

किशोर भी सट्टे में लगा रहे पैसा

किशोर तक घरों से पैसे चुराकर सट्टे में लगा रहे हैं। थाने पर कई बार मामले की शिकायत कर चुके हैं। उसके बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं करती। भीड़ का नेतृत्व कर रहे प्रदीप कुमार ने बताया कि पुलिसकर्मी भी सट्टे वालों से मिले हुए हैं। एसएसपी आफिस के बाहर सभी कालोनी के लोग मानव श्रृंखला बनाकर बैठ गए। तब एसएसपी विपिन ताडा ने कुछ लोगों को कार्यालय में बुलाया।

उन्होंने बताया कि सट्टा कराने वालों ने कई घरों को तबाह कर दिया है। एसएसपी का कहना हैं कि इस मामले में एसपी सिटी को जांच कर रिपोर्ट मांगी गई है। बता दें कि 15 दिन पहले भी लोगों के हंगामा करने पर ही पुलिस ने कार्रवाई की थी। उसके बाद फिर से सट्टे का धंधा शुरू हो गया है। थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार का कहना है कि सट्टे करने वालों के खिलाफ समय समय पर अभियान चलाकर कार्रवाई की जाती है।

ये भी पढ़ें - 

UP News: सैलून में चल रहा था जिस्मफरोशी का धंधा, सिर्फ 800 रुपये में... पुलिस ने पहुंचकर सबसे पहले किया ये काम