मेरठ, जेएनएन। सरधना कस्बे की नवीन मंडी में शुक्रवार को क्रय केंद्र पर तोल के बाद गेहूं में सुरसुरी मिलने पर केंद्र प्रभारी व मार्केटिग इंस्पेक्टर ने अन्य गेहूं लेने से इन्कार कर दिया। इस पर हंगामा खड़ा हो गया। हालांकि, इसी बीच केंद्र प्रभारी व किसान की कहासुनी भी हुई। सूचना पर पहुंची पुलिस के बाद अन्य किसानों के गेहूं की तोल शुरू हुई।

सरधना-बिनौली रोड स्थित नवीन मंडी में पीसीएफ व आरएफसी केंद्रों पर गेहूं की खरीद चल रही है। शुक्रवार को आरएफसी केंद्र पर जसड़ निवासी रामबीर गेहूं से लदी ट्राली लेकर पहुंचे थे। आरएफसी खाद्य विभाग की केंद्र प्रभारी व मार्केटिग इंस्पेक्टर गरुणा यादव का आरोप है कि जब गेहूं की तोल करने के बाद गेहूं का कट्टा रख दिया तो उसमें सुरसुरी मिली। इसके बाद तोल करने के लिए मना कर दिया और ट्रैक्टर-ट्राली हटाने के लिए कहा। इसी से क्षुब्ध किसानों ने हंगामा कर दिया। हालांकि, इस बीच गरुणा यादव की क्रय केंद्र से ट्रैक्टर-ट्राली हटाने को कहासुनी भी हुई। वहीं, किसान रामबीर ने बताया कि जब गेहूं लेकर आए थे। उसमें सुरसुरी नहीं थी। आरोप है कि उनके बारदाने में ही कुछ सुरसुरी थी। इस दौरान घंटों तोल बाधित रही। वहीं, सूचना पर पहुंची पुलिस के बाद तौल शुरू हुई।

हत्यारोपितों को पकड़ने की मांग : सरधना क्षेत्र के बपारसी गांव में गत दिनों चुनावी रंजिश के चलते दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया था। इस दौरान बीच बचाव में आए घायल बुजुर्ग की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। हत्यारोपितों की गिरफ्तारी न होने पर मृतक के स्वजन सीओ से मिले और उनकी गिरफ्तारी की मांग की।

गांव बपारसी निवासी मृतक विरेंद्र की पत्नी मितलेश व उनका बेटा रोहित शुक्रवार को सीओ आरपी शाही से मिला। उन्होंने बताया कि हत्यारोपितों की गिरफ्तारी को कई बार पुलिस से गुहार लगा चुके हैं, लेकिन अभी तक मुख्य आरोपित गिरफ्तार नहीं हुआ है। आरोप है कि हत्यारोपित कई मामलों में लिप्त है और उसके परिवार के लोग जान से मारने की धमकी देकर फैसले का दबाव बना रहे हैं। इस पर सीओ ने एसएसआइ सुभाष सिंह को आरोपितों को जल्द पकड़ने के निर्देश दिए।

Edited By: Jagran