मेरठ,जेएनएन। Vaccination In Meerut अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और आइपीएल खिलाड़ी मेरठ के कर्ण शर्मा ने सोमवार को कोरोना वैक्सीन लगवा ली। रजिस्ट्रेशन कर कर्ण ने स्लाट बुक किया था। स्लाट में उन्हें स्वास्थ्य केंद्र रजपुरा में बुकिंग मिली थी। सोमवार सुबह करीब 11 बजे कर्ण शर्मा स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे और वैक्सीन लगवा ली। आइपीएल स्थगित होने के बाद कर्ण मेरठ लौट आए और वर्तमान में मेरठ में ही रह रहे हैं। वैक्सीन लगवाने के साथ ही कर्ण शर्मा ने युवा पीढ़ी को बढ़-चढ़कर वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया।

ऐसे किया प्रेरित

उन्होंने कहा कि 19 साल से ऊपर आयु वर्ग में अब युवाओं से अधेड़ आयु वर्ग के लोगों को भी वैक्सीन लगाई जा रही है। ऐसे में युवा बिना समय गंवाए अपना रजिस्ट्रेशन कर स्लाट बुक कराएं और वैक्सीन जरूर लगवा लें। एक बार वैक्सीन के दोनों डोज लग गए तो संक्रमण का खतरा कम हो जाएगा। संक्रमित हो भी गए तो ऐसी स्थिति नहीं आएगी कि संक्रमित व्यक्ति को अस्पताल में जाकर भर्ती होना पड़े। इसलिए सभी लोग स्वयं वैक्सीन लगवा लें। यदि किसी के घर में 45 या 60 से अधिक आयु वर्ग के लोग भी रह गए हैं तो उन्हें भी अविलंब वैक्सीन जरूर लगवा दें। कर्ण शर्मा लगातार लोगों को कोविड नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित करने के साथ ही जरूरतमंदों की मदद भी कर रहे हैं। पिछले सप्ताह ही कर्ण शर्मा ने कोविड संक्रमितों की मदद के लिए कार्यरत गौतम गंभीर फाउंडेशन को पांच लाख रुपये दान किए थे।

अधिवक्ताओं व स्वजन के लिए लगा कोरोना टीकाकरण शिविर

मेरठ बार एवं जिला बार एसोसिएशन की मांग पर स्वास्थ्य विभाग ने अधिवक्ताओं तथा उनके स्वजन के लिए कचहरी परिसर में तीन दिवसीय कोरोना टीकाकरण शिविर शुरू किया। जिसका उद्घाटन जिला जज दिनेश शर्मा ने फीता काटकर किया। मेरठ बार एसोसिएशन के महामंत्री सचिन चौधरी ने बताया की पंडित नानकचंद सभागार में सोमवार सुबह 11 बजे से शुरू हुए टीकाकरण शिविर में मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महावीर सिंह त्यागी, सीजेएम डीएन गोस्वामी तथा पुलिस चिकित्सालय के प्रभारी डा. सुभाष सिंह के अलावा अनेक अधिवक्ता मौजूद रहे। शिविर में बड़ी संख्या में अधिवक्ताओं तथा उनके स्वजन ने टीका लगवाया। मेरठ बार अध्यक्ष महावीर सिंह त्यागी ने बताया कि शिविर 18 और 19 मई को भी चलेगा। शिविर के आयोजन में जिला बार एसोसिएशन अध्यक्ष वीके शर्मा, महामंत्री मुकेश त्यागी, अधिवक्ता चरण सिंह त्यागी, शैलेंद्र प्रताप सिंह, जसपाल सिंह गुजराल आदि का सहयोग रहा।