मुजफ्फनगर, जेएनएन। मुजफ्फरनगर पुलिस ने गुरुवार की दोपहर मलिकपुरा गांव के जंगल से चार शिकारियों को दबोच लिया। पुलिस ने उनके पास से एक लाइसेंसी बंदूक व जानवरों को काटने के हथियार व एक कार बरामद की है। पुलिस ने बताया कि ये शिकारी मेरठ से पशुओं का शिकार करने आए हुए थे। सूचना मिलने के बाद से पुलिस ने इन को दबोच लिया है।

गुरुवार की दोपहर पुलिस को सूचना मिली कि मलिकपुरा गांव के जंगल में कुछ संदिग्ध लोग घूम रहे हैं उनके पास हथियार भी है। पुलिस ने सूचना के आधार पर घेराबंदी करके चार लोगों को एक कार में दबोच लिया। तलाशी लेने पर उनके पास से एक लाइसेंसी दो नली बंदूक व जानवारों को काटने के हथियार बरामद हुए। इंस्पेक्टर दीपक चतुर्वेदी ने बताया कि पुछताछ में उन्होंने बताया कि वह किसी की बंदूक मांग कर शिकार करने के लिए लाए थे। जबकि उनके पास लाइसेंस राइफल का है।

निकले मांस तस्‍कर 

पुलिस की गहन पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वे जानवरों का शिकार करके उनका मांस बेचने का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि तीनों की पहचान सैय्यद मौहम्मद शामिक पुत्र सैय्यद मौहम्मद नैय्यर निवासी सुभाष बाजार थाना कोतवाली नगर मेरठ, जाकिर पुत्र कासिम निवासी मोहल्ला लाल मौहम्मद खतौली व फैसल पुत्र यामीन निवासी अलीबाग कालोनी थाना लिसाडी गेट मेरठ, अखलाख पुत्र गुलशेर निवासी मंजूर नगर, जैदी फार्म थाना नौचंदी मेरठ के रूप में बताई है।

ऐसे करते थे तस्‍करी

बताया कि वह जानवरों को मार कर या बेहोश करके उनके मुंह पर टेप लगाकर गाडी में ले जाकर बेच देते थे। तीनों के पास से एक बंदूक दो नली, एक लाइसेंस शस्त्र राइफल, एक कार व जानवरों को काटने का सामन बरामद किया है। पुलिस ने आरोपितों का चालान कर दिया है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस