मेरठ, जेएनएन। सुभारती विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के पीए संजय गौतम की कुछ दिन पूर्व हत्‍या के मामले में दो मुख्‍य आरोपितों ने गुरुवार को दिल्‍ली के थाने में सरेंडर कर दिया। हत्‍या के पीछे बदला लेने की वजह सामने आई थी। बेइज्‍जती करने के कारण संजय को मौत के घाट उतारा गया था। इस प्रकरण में पुलिस ने पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस कर रही थी सरगर्मी से तलाश

बागपत रोड पर सरेराह आठ हमलावरों ने संजय गौतम की ईंटों से कुचलकर निर्मम हत्‍या कर दी थी। हत्याकांड में मृतक के बेटे रवि गौतम की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस की जांच में आठ हत्यारोपी की पुष्टि हुई, जिसमें से पांच हत्यारोपियों को दो दिन पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जबकि मुख्य आरोपित विनीत, सागर उर्फ राजकुमार और लकी फरार चल रहे थे। जिनकी तलाश में पुलिस टीमें लगी हुईं थी।

आर्म्‍स एक्‍ट में किया सरेंडर

एसपी सिटी डॉक्टर अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि आरोपित विनीत और सागर उर्फ राजकुमार ने दिल्ली के रोहिणी स्थित थाने में आर्म्स एक्ट में सरेंडर किया है। इसके बाद पुलिस अब दोनों हत्यारोपी को मेरठ लाने की तैयारी में जुट गई है। वहीं फरार चल रहे तीसरे मुख्य आरोपित लकी की तलाश में पुलिस उसके नाते रिश्तेदारों के यहां दबिश दे रही है। पुलिस के अनुसार लकी को भी जल्‍द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप