मेरठ, जेएनएन। किसानों के भारत बंद के आह्वान के अंतर्गत सोमवार को किसानों ने दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे को भी गाज‍ियाबाद में कई स्थानों पर बंद कर दिया। कई स्थानों पर किसान बैठ गए जिससे आवागमन नाममात्र का रहा। हालांकि दोपहर बाद किसान हट गए और वाहन फर्राटा भरने लगे।

परतापुर इंटरचेंज पर सुबह किसान बैठ गए। पहले बाईपास की ओर के वाहन रोके गए। बाद में कुछ किसान और पहुंचे। विपक्षी पार्टियों के नेता भी रहे। इस पर एक्सप्रेस वे के इंटरचेंज को भी बंद करने लगे। आंशिक रूप से यहां बंदी की गई लेकिन जब गाजियाबाद के किसानों को पता चला कि मेरठ की तरह से खास फर्क नहीं पड़ रहा है तब मुरादाबाद गांव व आसपास के किसान एक्सप्रेस वे पर पहुंच गए। वाहनों को रोकना शुरू किया। वहीं भोजपुर में भी किसान रैंप पर चढ़ने वाले वाहनों को रोकने लगे। काफी देर तक आवागमन थमा रहा। तमाम वाहन चालक मोदीनगर होते हुए निकले तो वहीं कुछ बुलंदशहर हाइवे से। इस पर भी कम संख्या में लेकिन वाहन आ जा रहे थे।

उधर लोगों को पहले से ही बंद की दिक्कतों के बारे में पता था इसलिए कम संख्या में वाहन एक्सप्रेस वे पर दिखाई दिए। तीन बजे के आसपास एक्सप्रेस वे पूरी तरह खुल गया। वाहन आने जाने लगे।

 

Edited By: Taruna Tayal