मेरठ, जेएनएन। बहुचर्चित हाईवे सामूहिक दुष्कर्म कांड में जेल में बंद एक बंदी की रविवार को बीमारी के चलते मौत हो गई। वहीं सहारनपुर में बच्ची को कुत्तों के झुंड ने मौत के घाट उतारा। दूसरी ओर बुलंदशहर में एक तांत्रिक ने इसका शव निकालकर तंत्र क्रिया शुरू कर दी। मौके पर पहुंचे लोगों ने हंगामा कर दिया। धामपुर पुलिस चौकी में तोडफ़ोड़ के आरोपितों की गिरफ़्तारी को दबिश देने गई पुलिस को महिलाओं ने बंधक बना लिया।

हाईवे सामूहिक दुष्कर्म कांड के आरोपित की जेल में मौत

बहुचर्चित हाईवे सामूहिक दुष्कर्म कांड में जेल में बंद एक बंदी की रविवार को बीमारी के चलते मौत हो गई। आरोपित 15 अक्टूबर 2016 से जेल में बंद था। वह किडनी की बीमारी से पीड़ि‍त था। इस कांड के अभी भी छह आरोपित जेल में है। 29 जुलाई 2016 को कोतवाली देहात क्षेत्र के नेशनल हाईवे पर गाजियाबाद की एक कॉलोनी की रहने वाली मां-बेटी के साथ सात युवकों ने दरिंदगी की थी। इस मामले में कोतवाली देहात पुलिस ने चार लोगों को जेल भेज दिया था। बाद में सीबीआइ ने तीन आरोपितों को जेल भेजा था। रविवार सुबह एक आरोपित सलीम पुत्र रियासत निवासी ग्राम ईंटखारी थाना तिर्वा (कन्नौज) की जिला कारागार में मौत हो गई।

आवारा आतंक : बच्ची को कुत्तों के झुंड ने मौत के घाट उतारा

सहारनपुर थाना मिर्जापुर के गांव सिकंदरपुर के जंगल में बच्चों के साथ लकड़ी बीनने गई आठ वर्षीय बालिका मिस्बाह को कुत्तों के झुंड ने बुरी तरह से नोच डाला। बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई।

पुलिस को महिलाओं ने बनाया बंधक

धामपुर पुलिस चौकी में तोडफ़ोड़ के आरोपितों की गिरफ़्तारी को दबिश देने गई पुलिस को महिलाओं ने बंधक बना लिया। बाद में थाने से आई फोर्स ने बंधक बनाए गए पुलिसकर्मियों को छुड़ाया।

मासूम के शव से तांत्रिक क्रिया, हंगामा

सिकंदराबाद की चोला चौकी क्षेत्र के गांव बड़ौदा में चार माह पूर्व एक मासूम की मौत हो गई थी। रविवार की सुबह एक तांत्रिक ने इसका शव निकालकर तंत्र क्रिया शुरू कर दी। मौके पर पहुंचे लोगों ने हंगामा कर दिया। तांत्रिक फरार। 

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस