मेरठ, जेएनएन। मवाना में लाकडाउन के बीच आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खोलने के लिए शुक्रवार से पूर्वाह्न तीन घंटे की छूट मिली। जरूरत के सामान की खरीदारी के लिए बाजारों में ग्राहकों की भीड़ रही। लोग शारीरिक दूरी को दरकिनार करते नजर आए। तीन घंटे की छूट के बाद दुकानें खुली मिलने पर पुलिस को सड़क पर उतरना पड़ा। पुलिस ने सख्ती से दुकानें बंद कराई, जिससे अफरातफरी मच गई। चंद घंटे चहल-पहल के बाद लोग घरों में कैद हो गए और सन्नाटा पसर गया। हालांकि इस दौरान इक्का-दुक्का दुकानें खुली भी रहीं।

लाकडाउन के चलते सप्ताहभर से बाजार बंद थे। डीएम की ओर से व्यापारी व आमजन की समस्या को देखते हुए गुरुवार को जारी रोस्टर में किराना, फल-सब्जी समेत जरूरत के सामान की दुकानें खोलने के लिए सुबह आठ बजे से ग्यारह बजे तक छूट दी गई थी। शुक्रवार को दुकानें खुलते ही बाजारों में जरूरत के सामान की खरीदारी के लिए ग्राहकों की भीड़ उमड़ पड़ी। समय सीमा समाप्ति के बावजूद लगभग 12 बजे भी दुकानें खुली रहीं। ईओ सुनील कुमार सिंह की अगुवाई में इंस्पेक्टर धर्मेंद्र सिंह राठौर मयफोर्स सड़क पर उतरे तो लोगों में अफरातफरी मच गई। पुलिस ने खुली दुकानों को सख्ती से बंद कराया। हालांकि 12 बजे के बाद लाकडाउन जैसे हालात बने। उसके बाद शाम तक सन्नाटा पसरा रहा।

इन्होंने कहा..: बाजार खुलने के समय भी पुलिस सतर्कता बरतेगी और देखेगी कि कहां शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा। लाकडाउन का उलंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।-उदय प्रताप सिह, सीओ मवाना