मेरठ,जेएनएन। सदर दुर्गाबाड़ी दिगंबर जैन मंदिर से सोमवार को जैन समाज ने धूमधाम से श्रीजी की रथयात्रा निकाली। गत वर्ष कोरोना को चलते रथयात्रा का आयोजन नहीं हुआ था। इस बार की रथयात्रा में आस्था का सैलाब उमड़ा।

दशलक्षण पर्व की पूर्णता पर जगह-जगह श्रीजी की आरती उतारी गई। रथयात्रा के स्वागत में तोरण द्वार लगाए गए और पुष्पवर्षा की गई। रथयात्रा के आगे झूमते हुए चल रहे महिलाओं और पुरुषों का उल्लास देखते ही बन रहा था। मंदिर में अभिषेक और पूजा-अर्चना के बाद श्रीजी को अश्वरथ पर विराजमान कराया गया। देवेंद्र धीरज ख्वासी, अतुल जैन रथ के सारथी व शीतल प्रसाद को कुबेर बनने का सौभाग्य मिला। वीरेंद्र कुमार, रितेश, अंकुर जैन, अतुल जैन दौराला, अशोक जैन, कवियत्री अनामिका अंबर ने पूजन और उद्घाटन में भाग लिया। सदर सर्राफा, पुलिस स्ट्रीट, आबूलेन, बांबे बाजार, टंकी मोहल्ला होते हुए यात्रा ऋषभ एकेडमी पहुंची। कड़ी धूप के बीच भक्त नंगे पैर यात्रा में शामिल हुए। उपभोक्ता कल्याण परिषद अध्यक्ष संजीव जैन सिक्का, सुनील जैन, दिनेश जैन, अक्षत जैन, अंकित जैन, अतुल जैन, सचिन जैन आदि मौजूद रहे।

आज तोपखाना से निकलेगी रथयात्रा

मेरठ: दशलक्षण पर्व पर सदर दिगंबर जैन मंदिरों से रथयात्रा के आयोजनों का सिलसिला जारी है। तीन रथयात्राओं का आयोजन हो चुका है। मंगलवार को चौथी रथयात्रा का आयोजन तोपखाना स्थित प्राचीन दिगंबर जैन मंदिर से होगा।

जैन समाज की महिलाओं ने खोला उपवास: दशलक्षण पर्व पर सोमवार को जैन समाज की महिलाओं ने उपवास खोला। इससे पूर्व मंदिर में जाकर परिवार की मंगलकामना की।

कस्बे के आदर्शनगर स्थित 1008 श्रीचंद्र प्रभु मंदिर में कई दिन से दशलक्षण पर्व की पूजा-अर्चना चल रही थी। जिसमें जैन समाज के श्रद्धालु पूजा कर नियमों का पालन कर रहे थे। महिला श्रद्धालुओं ने बताया कि इन दस दिनों में उन्होंने नियम के अनुसार दिन में एक ही बार जल ग्रहण किया है। सोमवार को श्रद्धालुओं ने मंदिर में भगवान के दर्शन किए। इसके बाद उन्होंने अपना उपवास खोला। श्रद्धालुओं ने बताया कि कल यानि आज मंगलवार को क्षमा वाणी की पूजा-अर्चना की जाएगी।

Edited By: Jagran