मेरठ : कल्याणं करोति स्थित कैंट जनरल अस्पताल में कल्याणं करोति का 24वां स्थापना दिवस समारोह और विनोवा भावे का 124वां जन्मदिवस मनाया गया। जरूरतमंद लोगों को उपकरण भी दिए गए।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता कृष्ण कुमार खन्ना ने विनोवा भावे के योगदान को याद किया। साथ ही उन्होंने कल्याणं करोति के मानवता के लिए किए जा रहे कार्यो की सराहना की। उन्होंने कहा कि अंधता निवारण और विकलांग सहायता में इस तरह की दूसरी कोई संस्था नहीं है। यह संस्था आप सभी के सहयोग से चलती है। कार्यक्रम सेवानिवृत्त महामंत्री ब्रिगेडियर एससी जौहर ने कहा कि मानवता की सेवा की ईश्वर की सच्ची सेवा है। हम सभी को मानवता की सेवा के लिए सदैव अग्रसर रहना चाहिए। उन्होंने लोगों को कल्याणं करोति मेरठ से जुडे रहने को कहा। कल्याणं करोति अध्यक्ष अनुराग दुबलिश ने बताया कि मेरठ और बागपत के 43 गांवों में निश्शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर आयोजन किया गया। इसमें 7031 नेत्र रोगियों की जांच और इलाज कर 805 नेत्र रोगियों के मोतियाबिंद के आपरेशन किए गए। 23860 नेत्र रोगियों की जांच और इलाज कर 800 नेत्र रोगियों के मोतियाबिंद के आपरेशन किए गए। इसमें 30891 नेत्र रोगियों की जांच कर 1605 आंख के रोगियों का आपरेशन किया गया। उन्होंने कल्याणं करोति के चलाए जाने वाले आगामी कार्यक्रम के विषय में बताया। वाईपी कौशल, डा. जगभूषण अग्रवाल, रवि बख्शी, डीके अग्रवाल, हरीभूषण अग्रवाल, सीएस रावत, डा. डीके पाल, कर्नल प्रमोद पाल उपस्थित रहे। संचालन नीता दुबलिश ने किया।

कृत्रिम यंत्र बांटे गए

कार्यक्रम के दौरान कल्याणं करोति मेरठ की ओर से दिव्यांग उपकरण और बुजुर्ग को श्रवण यंत्र दिया गया। विकलांगों को कृत्रिम पैर, चार विकलांगों को कैलीपर, विकलांगों को बैसाखी जोड़े और 20 बुजुर्ग को श्रवण यंत्र दिए गए।

Posted By: Jagran