मेरठ,जेएनएन। दीपावली के जश्न के बाद शहर में अन्य दिनों की तुलना में दोगुना कूड़ा उत्पन्न हुआ, लेकिन अधिकांश स्थानों पर अगले दिन (सोमवार को) झाडू ही नहीं लगी, कूड़ा उठना तो दूर की बात है। तमाम कॉलोनियों की गलियों और सड़क पर गंदगी फैली रही तो वहीं जगह-जगह कूड़े के ढेर भी दिखाई दिए।

मोमबत्तियां जलीं और पटाखे-फुलझड़ियां भी दीपावली के जश्न के बाद इधर-उधर गंदगी बनकर फैलती रहीं। उपहारों के आदान-प्रदान के बाद पैकिंग सामग्री और त्योहार के कारण रसोई से निकले गीले कूड़े में भी इजाफा हुआ। कुछ घरों में दीपावली के दिन भी अनुपयोगी वस्तुएं बाहर फेंकी गई और नई सामग्री से घर को संवारा गया। बच्चा पार्क, शास्त्री नगर, ट्रांसपोर्ट नगर, साकेत, माधवपुरम, रिठानी, बागपत रोड, रेलवे रोड, सूरजकुंड, फूलबाग, हापुड़ रोड की कॉलोनियों में गंदगी पसरी रही।

शनिवार को दीपावली त्योहार होने की वजह से सफाई हुई लेकिन रविवार यानि त्योहार के दूसरे दिन सफाई नहीं हुई। कुछ महत्वपूर्ण स्थानो को छोड़कर कहीं भी झाडू नहीं चली। जहां-तहां कूड़ा पड़ा रहा। पहले से पड़े कूड़े को देखकर वहां लोगों ने और कूड़ा फेंक दिया, इससे कूड़े का ढेर कॉलोनियों और सड़कों के किनारे बढ़ता गया। 1700 टन उत्पन्न हुआ कूड़ा

सामान्य दिनों में औसतन प्रतिदिन 900 टन कूड़ा उत्पन्न होता है, लेकिन दीपावली की वजह से इसका आंकड़ा 1700 टन के आसपास पहुंच गया। नगर निगम के स्वास्थ्य अनुभाग के कर्मियों के मुताबिक ऐसे त्योहार पर कूड़ा डेढ़ से दो गुना हो जाता है। नगर निगम ने नहीं की सफाई की तैयारी

दीपावली पर सामान्य दिनों की तुलना में ज्यादा कूड़ा उत्पन्न होना और पटाखे आदि की गंदगी फैलना आम बात है। इसीलिए ऐसी स्थिति से निपटने के लिए स्थानीय निकायों को योजना बनानी होती है। गंदगी से निजात दिलाने के लिए नगर निगम ने कोई तैयारी नहीं की। आज होगी सफाई

नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. गजेंद्र सिंह ने बताया कि कई दिनों से सफाई अभियान में जुटे रहने के साथ ही दीपावली के दिन भी सफाईकर्मी व अन्य स्टाफ ड्यूटी पर था। इसलिए दूसरे दिन अवकाश दिया गया था। मंगलवार को विशेष अभियान चलाकर सफाई कराई जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस