शामली, जागरण संवाददाता। गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा ने थानाभवन क्षेत्र के एक गांव में पत्रकारों से बात करते हुए सपा पर जमकर हमला बोला। कहा कि सपा उम्मीदवारों की सूची से साफ नजर आ रहा है कि उनकी मंशा क्या है।

राणा ने कहा कि सपा-रालोद गठबंधन ने जो सूची जारी की है उसमें कैराना से सपा के नाहिद हसन का नाम है। कहा कि 'नाहिद के कारण ही पलायन हुआ था।' वह गुंडों के सरपरस्त है। 'बोटी-बोटी की भाषा बोलने वाले इमरान मसूद' जैसे लोगों को सपा आगे कर दहशत का माहौल बनाना चाहती है। इन लोगों के चेहरे सामने आते हैं तो वो 'दंगा याद' आता है। छात्राओं से छेड़छाड़ की घटनाएं याद आती है, किसान का 'डरते हुए खेत में जाना याद आता है।' पश्चिमी उत्तर प्रदेश का अराजकता का माहौल याद आता है। सुरेश राणा ने कहा कि सपा का असली चेहरा सामने आ रहा है। सपा सरकार में '400 से अधिक दंगे प्रदेश की जनता' ने झेले हैं।

मुजफ्फरनगर में ही हजारों किसानों पर झूठे मुकदमे दर्ज किए गए थे। सरकार में बैठे मंत्री दंगाइयों का संरक्षण करते थे और सरकारी विमान में लखनऊ बुलाते थे। सहारनपुर जला दिया गया था और कैराना-कांधला से पलायन हो रहा था। योगी सरकार में कानून व्यवस्था बेहतर हुई और पलायन करने वाले लौट रहे हैं। गन्ना मंत्री ने कहा कि रामभक्तों पर गोली चलवाने वाले भी आज राम-राम, राधे-राधे का नाम जप रहे हैं। यह मोदी-योगी के कारण ही संभव हुआ है।

Edited By: Taruna Tayal