सहारनपुर, जेएनएन। प्राचीन शिव मंदिर बैकुंठ धाम श्मशान भूमि पर सपा विधायक संजय गर्ग ने अंत्येष्टि स्थल का निर्माण कराने के बाद श्मशान घाट का नाम बदलकर हाजी शाह श्मशान घाट अंकित करा दिया है। इस मसले को लेकर सियासी सरगर्मियां बढ़ गई हैं।

बाबा लालदास रोड स्थित शिव मंदिर बैकुंठ धाम श्मशान भूमि पर हाल में सपा के नगर विधायक संजय गर्ग की विधायक निधि से ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा अंत्येष्टि स्थल का निर्माण कराया गया है। सोमवार को कई भाजपा नेता किसी के अंतिम संस्कार में श्मशान घाट पहुंचे। भाजपा नेता दिनेश सेठी की यहां लगे इस शिलापट पर नजर पड़ी।

दिनेश सेठी ने बताया कि इस श्मशान घाट का नाम शिव मंदिर बैंकुठ धाम है। सपा विधायक ने श्मशान घाट का नाम बदलकर ओछी मानसिकता का परिचय दिया है। इससे हिंदू समाज की भावनाएं आहत हुई हैं। इसके लिए उन्हें सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।

शिलापट पर यह अंकित

वर्ष 2021-22, बाबा लालदास रोड स्थित हाजी शाह शमशान घाट में अंत्येष्टि स्थल के निर्माण कार्य का उद्घाटन संजय गर्ग विधायक नगर सहारनपुर द्वारा संपन्न हुआ। कार्यदायी संस्था-ग्रामीण अभियंत्रण विभाग सहारनपुर।

इस प्रकरण की जानकारी उन्हें मीडिया से हो रही है। अंत्येष्टि स्थल का उद्घाटन अभी उन्होंने नहीं किया है। शिलापट पर अंकित जिस नाम पर आपत्ति है, वह गलती शिलापट बनाने वाले कारीगरों की है। शिलापट हटवा दिया है। सही नामकरण के साथ दूसरा शिलापट लगवाया जायेगा।

-संजय गर्ग, सपा विधायक

विभाग ने अंत्येष्टि स्थल का निर्माण कराया है। शिलापट लगवाने का काम ठेकेदार द्वारा विधायक की सहमति से किया जाता है। मौके से शिलापट हटवा दिया है। यह शिलापट दूसरे स्थल पर लगना था, जो गलती से यहां लगा दिया गया।

-वीके दुबे, अधिशासी अभियंता

ग्रामीण अभियंत्रण सेवा

सपा विधायक ने यह सब कुछ जानबूझ कर चुनावी माहौल बनाने के लिए किया है। अगर विधायक इसके लिए समाज से माफी नहीं मांगेंगे, तो बजरंग दल विरोध में आंदोलन करेगा।

-कपिल मोहड़ा, बजरंग दल के बलोपासना प्रमुख

 

Edited By: Taruna Tayal