मेरठ, जेएनएन। पार्टी से बगावत कर गठबंधन प्रत्याशी के विरोध में नामांकन करने वाले सपा नेता सन्नी गुप्ता अपना नामांकन-पत्र वापस लेंगे। सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने उन्हें मना लिया है। अब वह गठबंधन प्रत्याशी के लिए प्रचार करेंगे। इसी तरह बिजनौर व देवबंद में भी रालोद व सपा के प्रत्याशियों ने नामांकन कर दिया था। वहां भी समझौता करा दिया गया है।

गठबंधन में मेरठ कैंट विधानसभा सीट रालोद के खाते में गई है। इस पर रालोद ने मनीषा अहलावत को प्रत्याशी बनाया है। इस निर्णय से रालोद और सपा दोनों के नेता नाराज हुए। सपा के युवा नेता सन्नी गुप्ता ने बगावत कर निर्दलीय नामांकन कर दिया। उनका तर्क था कि उन्हें खुद अखिलेश यादव ने रालोद का सिबल लेने दिल्ली के पार्टी कार्यालय भेजा था। रालोद ने सिबल नहीं दिया जबकि उन्होंने इस सीट पर जीत का समीकरण तैयार कर लिया था। लंबे समय से जनसेवा कर रहे थे। सन्नी गुप्ता का कहना है कि प्रदेश अध्यक्ष से वार्ता के बाद अब कोई नाराजगी नहीं रह गई है। वह अपना नामांकन पत्र वापस ले लेंगे। पार्टी के निर्देशों के तहत प्रचार भी करेंगे।

विकास का नया माडल पेश करेगा मेरठ दक्षिण : डा. सोमेंद्र

मेरठ : मेरठ दक्षिण से भाजपा प्रत्याशी डा. सोमेंद्र तोमर ने कहा कि 2017 से 2022 तक रिकार्ड विकास कार्य हुए, अगले पांच साल में जिले की सूरत बदल जाएगी।

कैंप कार्यालय में प्रेस वार्ता में सोमेंद्र ने कहा कि मेडिकल कालेज में सुपर स्पेशियलिटी ब्लाक एवं चिकित्सा सुविधाओं को अपग्रेड कराया गया है। गांवों में सड़के बनवाईं, डिग्री कालेज एवं सरकारी इंटर कालेज बना। गगोल तीर्थ स्थल के कायाकल्प के लिए डीपीआर शासन को भेजी गई है। जिन गांवों में जमीन मिली, वहा खेल मैदान बनाए। औद्योगिक विकास के लिए आइआइए के साथ समन्वय बनाकर काम होगा।

Edited By: Jagran