शामली, जागरण संवाददाता। समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष एवं एमएलसी राजपाल कश्यप ने कहा कि भाजपा सरकार में अघोषित आपातकाल जैसे हालात हैं। पिछड़ों का शोषण व उत्पीडऩ चरम पर है। पिछड़ों की आबादी 54 फीसद से अधिक है, लेकिन जातीय जनगणना सरकार नहीं कराना चाहती है।

गुरुवार को माजरा रोड स्थित एक बेंक्वेट हाल में समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ सम्मेलन जिलाध्यक्ष संजय उपाध्याय के तत्वावधान में कराया गया। मुख्य अतिथि विधान परिषद सदस्य व प्रदेश अध्यक्ष डा. राजपाल कश्यप तथा राज्यसभा सदस्य व राष्ट्रीय महासचिव बिशंभर प्रसाद निषाद रहे। राजपाल कश्यप ने कहा कि वोट हमारा, राज तुम्हारा अब नही चलेगा। अब सपा पिछड़ों की लड़ाई लड़ रही है। जनता 2022 में सपा की सरकार बनाने जा रही है, वर्तमान भाजपा सरकार ने किसानों को कुचलने के साथ ही उनका अपमान किया है। भाजपा सरकार में गरीब तबका परेशान है और महंगाई झेल रहा है। कानून व्यवस्था खराब है। इस बार पिछड़े भाजपा को उखाड़ फेंकने का काम करेंगे। सुधीर पंवार ने कहा कि अखिलेश यादव ने सरकार बनने पर किसानों के लिए मिल में गन्ना सप्लाई होते ही तुरंत भुगतान करने, ट््यूबवेल की बिजली मुफ्त करने, गरीब परिवारों को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने तथा बुजुर्ग महिलाओं को मिलने वाली समाजवादी पेंशन योजना में मिलने वाली पेंशन को बढ़ाकर 1500 करने एवं संख्या बढ़ाने की घोषणा की है। पूर्व मंत्री किरणपाल कश्यप, जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी, रामफल, वीर ङ्क्षसह मलिक, विजय कौशिक, प्रदेश सचिव धूम सिंह सैनी, प्रदेश महासचिव पिछड़ा हरीशचंद प्रजापत, ब्रिजेश शर्मा, मांगेराम कश्यप पूर्व मंत्री ने भी संबोधित किया। उपाध्याय समाज के लोगो ने प्रदेश अध्यक्ष को तलवार भेट की और राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम ज्ञापन दिया। गंभीर उपाध्याय, अनिल उपाध्याय, सुनील उपाध्याय, महेश, गोर्धन उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

 

Edited By: Prem Dutt Bhatt