शामली, जागरण संवाददाता। Constable dead body शामली मंगलवार की सुबह उस वक्‍त सनसनी फैल गई जब एक खेत में यूपी पुलिस के सिपाही का शव मिला। सूचना के बाद वरिष्‍ठ अफसर भी मौके पर पहुंच गए थे। एसएसपी अभिषेक का कहना है कि सिपाही का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। प्रारंभिक जांच में मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। सिपाही का शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया है।

सबसे पहले राहगीरों ने देखा शव

43 वर्षीय सिपाही संदीप कुमार पुत्र चंद्रपाल सिंह की तैनाती शामली कोतवाली में थी। सिपाही संदीप मूल रूप से मंगलोर जनपद हरिद्वार उत्तराखंड निवासी थे। मंगलवार सुबह करीब नौ बजे राहगीरों ने सिपाही का शव पड़ा देखा। इसके बाद अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह, सीओ और कोतवाली शामली प्रभारी निरीक्षक पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और जांच पड़ताल की।

सिपाही की मुजफ्फरनगर में सुसराल

बाद में सिपाही के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया। पुलिस को मौके पर तमंचा, बैग, मोबाइल फोन और स्कूटी भी मिली है। सिपाही के स्वजन को भी घटना के संबंध में सूचना दी गई। सिपाही संदीप की ससुराल मुजफ्फरनगर जनपद के थाना तितावी क्षेत्र के गांव मगनपुर में है। सिपाही संदीप की पत्नी, बेटा और बेटी मुज़फ्फरनगर के भोपा रोड स्थित एक कालोनी में रहती हैं।

एसएसपी बोले-सुसाइड प्रतीत हो रहा

घटना के बाद संदीप के ससुराल पक्ष के लोग शामली में पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंच गए, लेकिन मंगलौर से स्वजन नहीं आ सके। मामले में एसएसपी अभिषेक का कहना है कि सिपाही का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। प्रारंभिक जांच में मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है।

मोबाइल  भी स्विच ऑफ हो गया था।

फॉरेंसिक टीम से भी मौके पर छानबीन कराई गई है। सिपाही संदीप सोमवार की सुबह मुजफ्फरनगर से ड्यूटी पर जाने के लिए कह कर घर से निकले थे, इसके बाद से उसका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ हो गया था।

Edited By: Prem Dutt Bhatt