मेरठ, जेएनएन : ऑनलाइन कंपनी फ्लिप कार्ट के सामान से भरे गोदाम में एसजी कंपनी का नकली सामान बरामद हुआ है। ब्रांड एंड प्रोटेक्टर्स इंडिया लिमिटेड गुरुग्राम की टीम ने करीब पांच लाख रुपये का माल पकड़ा। टीम के सदस्य पांच माह से जांच में जुटे थे। बता दें कि फ्लिट कार्ट का सामान सप्लाई का काम ई-कार्ट करती है और जिस गोदाम से माल बरामद हुआ, वहां ई-कार्ट का बोर्ड लगा था।

ब्रांड एंड प्रोटेक्टर्स के निदेशक धीरेंद्र सिंह ने बताया कि एसजी कंपनी उनकी क्लाइंट हैं। कंपनी को काफी समय से नकली सामान फ्लिप कार्ट के जरिए बेचे जाने की सूचना मिल रही थी। शनिवार को उनकी टीम ने ब्रह्मापुरी थाना पुलिस के साथ दिल्ली रोड स्थित श्याम प्लाजा के एक गोदाम पर छापा मारा। इस दौरान करीब पांच लाख रुपये का नकली सामान बरामद हुआ। टीम को गोदाम से नकली बैट, किट, बैग और स्टिकर आदि मिले। इनके खिलाफ हुआ मुकदमा

रोहटा रोड स्थित आशा इंटर प्राइजेज, अंश स्पो‌र्ट्स जयदेवी नगर, इंडिया स्पो‌र्ट्स और उत्तराखंड की उन्नियाल स्पो‌र्ट्स के समेत गोदाम इंचार्ज विनय प्रताप, संदीप कुमार और प्रवेश शर्मा के खिलाफ ब्रह्मापुरी थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई है। सरकार को भी लगा रहे चूना

उन्होंने बताया कि नकली सामान बनाने वाले करीब 90 प्रतिशत कारोबार नकदी में करते हैं, जबकि दिखाने के लिए सिर्फ 10 प्रतिशत कारोबार जीएसटी के जरिए करते हैं। हालांकि आरोपित जीएसटी नंबर लिए होते हैं। इससे सरकार को भी राजस्व का नुकसान होता है। क्योंकि स्पो‌र्ट्स के सामान पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगती है। सुबह सामान आता था..देर रात निकलता था

धीरेंद्र सिंह के अनुसार ई-कार्ट के गोदाम पर सुबह नकली माल वैन आदि में भरकर आता था, जो देर रात ट्रकों के जरिए सप्लाई होता था। एसजी के अलावा भी कई अन्य कंपनियों के माल गोदाम में भरा पड़ा था। मेरठ से रोजाना बड़ी संख्या में माल बेचा जा रहा था। इससे पहले भी उन्होंने मेरठ से ब्रांडेड कंपनियों का नकली सामान पकड़ा है।

---------

इनका कहना है

------------

-ब्रांड का नकली सामान बेचना आपराधिक कृत्य है, जिसमें जेल तक भेजने का प्रावधान है। मेरठ की विश्वस्तरीय छवि को खराब किया जा रहा है। मेरठ अपने गुणवत्ता के लिए ही जाना जाता है, जिससे समझौता नहीं किया जाएगा। एसोसिएशन इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। हम पूर्व में भी इस तरह की मांग उठाते रहे हैं, लेकिन कोई ठोस कदम नहीं उठाया जाता। अब तो प्रमाण भी सामने है। प्रशासन से मिलकर डुप्लीकेट सामान बनाने वालों पर कड़ी कारवाई की मांग और तेज होगी।

-पंकज गुप्ता, राष्ट्रीय अध्यक्ष, आइआइए आनलाइन बिजनेस में जवाबदेही का भारी संकट है। इस तरह की गलत प्रैक्टिस से एसजी जैसी मेहनतकश कंपनियों को बड़ा नुकसान हो रहा है। डुप्लीकेशन से छोटे और ईमानदार व्यापारी बर्बाद हो जाएंगे। प्रशासन से अपील है कि नकली सामान बेचने वालों पर कड़ी कारवाई की जाए। जिससे मेरठ की व‌र्ल्ड क्लास इमेज से कोई छेड़छाड़ न कर सके।

-पारस आनंद, मार्केर्टिग डायरेक्टर, एसजी फ्लिप कार्ट की सफाई

फ्लिप कार्ट एक ऐसा मार्केट प्लेस है जो विक्रेताओं को देशभर के ग्राहकों से जुड़ने में मदद करता है। हमसे जुड़े विक्रेताओं के लिए जरूरी है कि वे तय नियमों का पालन करें। हम उन घटनाओं पर शून्य सहिष्णुता नीति का पालन करते हैं जहा विक्रेता गुणवत्ता दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करते हैं। इस मामले की जाच के लिए अधिकारियों के साथ हम भी काम कर रहे हैं और फर्जी माल बेचने वाले को दंड दिलाने में पूरी मदद करेंगे।

-प्रवक्ता, फ्लिप कार्ट

Edited By: Jagran