मेरठ,जागरण संवाददाता। Savan Month 2021 भगवान शिव के अति प्रिय श्रावण मास का आरंभ 25 जुलाई रविवार से हो रहा है। इस बार श्रावण मास 30 दिन का न होकर 29 दिनों का रहेगा। श्रावण मास का पहला सोमवार 26 जुलाई को है। सावन शिवरात्रि का पर्व 6 अगस्त को मनाया जाएगा। इसमें विशेष रूप से शिवालयों में भगवान शिव का जलाभिषेक का समय शाम 6:28 से शुरू होकर पूरी रात तक रहेगा। पंडित राहुल अग्रवाल ने बताया कि खास बात यह है कि श्रावण मास के चारों सोमवार पर विशेष शुभ योग बन रहे हैं। 26 जुलाई पहले सोमवार को सौभाग्य योग और शुभ योग, दूसरे सोमवार को सर्वार्थ सिद्धि योग, तीसरे सोमवार को भगवान शिव की आराधना के लिए वरियान योग व अंतिम और चौथे सोमवार को धर्म योग व सर्वाथ सिद्धि योग होगा। श्रुद्धालु अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए इन विशेष योग पर पूजन कर सकते हैं। 22 अगस्त को श्रावण मास समाप्त हो जाएगा।

औघडऩाथ मंदिर में कोविड गाइडलाइन के तहत होंगे दर्शन

छावनी स्थित बाबा औघडऩाथ मंदिर के मुख्य पुजारी पंडि़त श्रीधर त्रिपाठी ने बताया कि कोविड गाइडलाइन के तहत श्रुद्धालुओं को बाबा के दर्शन कराए जाएंगे। शारीरिक दूरी के साथ मास्क जरूरी रहेगा। एक समय में गृभग्रह के अंदर अधिकतम दस श्रृद्धालु ही प्रवेश कर सकेंगे। पहले सोमवार को पांच बजे सुबह आरती के बाद श्रृद्धालुओं को दर्शन हो सकेंगे। प्रसाद का वितरण भी होगा।

मंदिरों में होंगे दर्शन, होगा जलाभिषेक

सदर स्थित बिल्वेश्वर नाथ महादेव मंदिर के पंडित हरीश चंद्र जोशी ने बताया कि 26 जुलाई को पहला सोमवार है। सावन को लेकर तैयारी कर ली गई हैं। मंदिर में भगवान शिव के दर्शन के साथ सभी श्रृद्धालु जलाभिषेक भी कर सकेंगे। वहीं, नई सड़क स्थित भोलेश्वर मंदिर के पंडित भोमदत्त ने बताया कि श्रावण मास में भगवान शिव की आराधना का विशेष महत्व है। मनोकामना पूर्ति के लिए चारों सोमवार को विशेष पूजन होता है।

श्रावण मास के पडऩे वाले सोमवार 

पहला सोमवार - 26 जुलाई

दूसरा सोमवार - 2 अगस्त

तीसरा सोमवार - 9 अगस्त

चौथा सोमवार - 16 अगस्त

Edited By: Prem Dutt Bhatt