मेरठ, जेएनएन। एनएच-334 पर बिजौली गांव के जंगल में रविवार को सुबह खेत में गोवंश के अवशेष मिले। पुलिस और पशुपालन विभाग की टीम ने नमूने लेकर प्रयोगशाला जांच को भेजे। उधर, पुलिस ने गोहत्या का मुकदमा दर्ज किया है। एनएच-334 पर एसके एकेडमी के सामने देव त्यागी के खेत में रविवार सुबह करीब नौ बजे बिजौली के ग्रामीण खेत पर पहुंचे तो उन्हें गोवंश के अवशेष मिले।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने कुछ अवशेष गड्ढे में दबवा दिए। उधर, इस बीच भाजपा नेता ऋषि त्यागी और विशांत त्यागी भी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई की मांग की। वहीं, सूचना पर पशुपालन विभाग के डा. विरेंद्र कुमार थाने पहुंचे और गोवंश के नमूने लेकर जांच को प्रयोगशाला भेजा। भाजपा नेता का कहना है कि सरकार को बदनाम करने के लिए गोतस्करों ने अवशेष खरखौदा में डाले हैं। इंस्पेक्टर अरविंद मोहन शर्मा ने कहा है कि गोहत्या का मुकदमा दर्ज कर जल्द आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। 

हिंदू संगठन के कार्यकर्ता ने उठाए सवाल थाने से नमूने लेने को लेकर हिंदू संगठनों ने पुलिस और पशुपालन विभाग पर मामले को दबाने का आरोप लगाया है। हिंदू संगठन के कार्यकर्ता मधुबन आर्य का कहना है कि पशुपालन विभाग की टीम को घटना स्थल पर पहुंचकर नमूने लेने चाहिए थे। पुलिस को नमूने लेकर थाने लाने को कोई नियम नहीं है। डा. विरेन्द्र कुमार का कहना है कि उन्हें पुलिस ने थाने से ही सूचना दी थी। इंस्पेक्टर ने बताया कि नमूने पुलिस थाने ले आई थी, जो पशुपालन विभाग की टीम को दे दिए गए हैं।

यह पहला मामला नहीं

हाईवे किनारे खरखौदा क्षेत्र में गोहत्या की घटना को अंजाम देने का यह मामला पहला नहीं है। हाईवे पर कुछ दिन पूर्व लोहियानगर मोड़ पर पूर्व विधायक रविंद्र भड़ाना ने गोहत्या के लिए ले जा रहे गोवंश को बचाया था। वहीं, दूसरा मामले में गत दिनों हाईवे किनारे डीएवी कॉलेज के सामने आम के बाग में दर्जनभर गोवंश की हत्या की गई थी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप