मेरठ, जेएनएन। निर्भया के गुनाहगारों की फांसी एक फरवरी को होनी तय कर दी गई है, इसकी जानकारी जेल प्रशासन ने पवन को बुलाकर दे दी है। साथ ही पवन को 30 जनवरी को तिहाड़ जेल जाने के लिए तैयार रहने की बात कही गई है। दिल्ली सरकार की तरफ से आदेश मिलने के बाद पवन को तिहाड़ जेल में बुलाया जाएगा। दो दिनों तक रिहर्सल कराने के बाद ही उसे फांसी देने के लिए तैयार किया जाएगा।

जेल प्रशासन की ओर आदेश जारी

कांशीराम आवासीय योजना में रहने वाले पवन जल्लाद को निर्भया के गुनाहगारों को फांसी देने के लिए तैयार किया गया था। 20 जनवरी को रिहर्सल के लिए पवन को दिल्ली भी जाना था। शुक्रवार को आदेश आया कि फांसी एक फरवरी को होगी। साथ ही तिहाड़ जेल प्रशासन की तरफ से पवन जल्लाद को अब 30 जनवरी को बुलाने का आदेश जारी किया है।

शहर से बाहर जाने पर रोक, सुरक्षा बढ़ाई

वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने पवन को तत्काल जेल में बुलाया। उसे बताया गया कि एक फरवरी तक शहर से बाहर नहीं जाएगा। अभी पवन की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक बीडी पांडेय ने बताया कि पवन ही निर्भया के गुनाहगारों को फांसी देगा। 30 जनवरी को तिहाड़ जेल में पहुंचकर दो दिनों तक रिहर्सल करेगा। बता दें कि पवन निठारी कांड के नरपिचास सुरेंद्र कोली को फांसी देने के लिए ट्रायल कर चुका है। इसलिए वह मानसिक रुप से पूरी तरह तैयार है।

इनका कहना है

पवन जल्लाद को 30 जनवरी को दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल भेजने के लिए संपर्क किया है। तिहाड़ जेल प्रशासन की तरफ से एक औपचारित पत्र भी कारागार मुख्यालय को मिल गया है, जिसे जेल अधीक्षक बीडी पांडेय को दे दिया है। तिहाड़ जेल नंबर तीन के अधीक्षक एस सुनील ने भी इस बाबत मेरठ जेल के अधीक्षक से बातचीत कर चुके हैं।

- आनंद कुमार, डीजीपी कारागार 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस