मेरठ, जेएनएन। विधानसभा चुनाव के सफल संचालन के लिए जिला प्रशासन की ओर से अलग-अलग विभागों के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जा रही है। इसमें बेसिक, माध्यमिक, विश्वविद्यालय और डिग्री कालेजों के शिक्षक और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को भी जिम्मेदारी दी जा रही है। चुनाव में सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विवि और डिग्री कालेजों के प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर को पीठासीन अधिकारी और मतदान अधिकारी बनाया गया है। इसे लेकर कुछ शिक्षकों ने विरोध दर्ज कराया है। डिग्री कालेजों के प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर का कहना है कि नौ हजार और 10 हजार का ग्रेड पे और पद को देखते हुए उन्हें कम से कम चुनाव में मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी मिलनी चाहिए। इसे लेकर कुछ शिक्षकों की ओर से राजभवन में शिकायत दर्ज की गई है। कुछ डिग्री कालेज के शिक्षकों ने विवि की परीक्षा और पढ़ाई को आधार बनाकर चुनाव ड्यूटी से छूट मांगी है। मंगलवार को कुछ शिक्षकों ने इसे लेकर सीडीओ कार्यालय में भी आवेदन किया है।

आनलाइन पढ़ाई पर भी असर

कोरोना संक्रमण को देखते हुए 24 जनवरी तक विश्वविद्यालय और कालेज भौतिक रूप से बंद हैं। केवल आनलाइन कक्षाएं चल रहीं हैं। एक फरवरी से विवि की परीक्षा कराने की भी तैयारी हो रही है। ऐसे में शिक्षकों का कहना है कि चुनाव में ड्यूटी लगने से आनलाइन पढ़ाई और परीक्षा पर अभी असर पड़ सकता है।

शराब बरामद, युवक दबोचा

हस्तिनापुर : थाना पुलिस ने मंगलवार को 38 लीटर कच्ची शराब बरामद कर एक युवक को गिरफ्तार किया है। थाना प्रभारी दिनेश सिंह यादव ने बताया कि मानपुर क्षेत्र में पुलिस गश्त के दौरान मुखबिर की सूचना पर एक युवक को गिरफ्तार किया। उसके पास से 38 लीटर अवैध कच्ची शराब बरामद की है। पूछताछ में आरोपित ने अपना नाम कुलदीप उर्फ काजू निवासी सराय खादर बताया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।-संसू

Edited By: Jagran