बुलंदशहर, जेएनएन। पंचायत चुनाव को लेकर एक सिपाही की वसूली का मामला सामने आया है। जब इसकी जांच हुई तो मामले सही निकला, जिसके बाद सिपाही को निलंबित कर दिया गया। सिपाही ने एक प्रधान प्रत्‍याशी से 40 हजार रुपये वसूली किए थे। उसने वसूली करते हुए प्रधान के प्रत्‍याशी को चेेेतावनी दी थी कि अगर रुपये नहीं दिए तो शराब पिलाने, सभा कराने और आचार संहिता के उलंघन में कार्रवाई  हो जाएगी। जिसके बाद से प्रत्‍याशी ने पैसे दे दिए थे।

जागरण संवादाता ने बताया कि थाना जहांगीराबाद में तैनात सिपाही को एसएसपी ने निलंबित कर दिया है। इस पर निवर्तमान प्रधान पर दबाव बना कर 40 हजार रुपये वसूलने का आरोप लगा है। प्रधान पद के उम्‍मीदवार ने शनिवार को थाने में पहुंचकर सिपाही अमित तोमर की शिकायत की थी। प्रत्‍याशी ने एसएसपी से कहा था कि वह इस बार प्रधान प्रत्याशी है और उसकी सभा में पहुंच कर सिपाही ने बिना अनुमति के सभा करने, कोरोना प्रोटोकाल का उलंघन तथा शराब पिलाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई का दबाव बनाया। दबाव बना कर आला अफसरों के नाम पर 40 हजार रुपये वसूल लिए।

एसएसपी ने की कार्रवाई: एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने मामले की जांच कराई तो आरोप सही निकला। इसके बाद देर शाम सिपाही अमित को निलंबित कर दिया है। साथ ही सिपाही की पूरी जांच सीओ को सौंप दिया है। एसएसपी का कहना है कि मामले की शिकायत आने के बाद से सिपाही की जांच कराई गई थी। दोषी पाए जाने पर उसे निलंबित कर दिया गया है। साथ ही अब इसकी आगे की जांच कराई जा रही है।

शहर में पंचायत चुनाव को लेकर सख्‍ती: जिले में पंचायत चुनाव को लेकर अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें अवैध शराब बनाने वालों और शराब बांटने वालों पर खास नजर रखी जा रही है। इसके साथ ही आरोपितों पर कार्रवाई भी की जा रही है। इसके अलावा बवालियों पर भी कार्रवाई की जा रही है।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप