मेरठ, जागरण संवाददाता। PM Modi visit meerut मेरठ के सलावा गांव में बनने वाले खेल विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियां युद्धस्तर पर चल रही हैं। इन तैयारियों ने बुधवार को उस समय और भी गति पकड़ ली जब जानकारी मिली कि कार्यक्रम की तैयारियों को देखने के लिए गुरुवार को मुख्यमंत्री खुद आ सकते हैं। शाम तक जहां मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर के लिए हेलीपैड तैयार कर दिया गया, वहीं कार्यक्रम की भी तमाम तैयारियां की गईं।

मंच लगभग तैयार, बनने लगे दर्शकों के ब्लाक

सरधना जागरण कार्यालय के मुताबिक कार्यक्रम स्थल पर बुधवार को युद्धगति से काम हुआ। मंच और कार्यक्रम का पंडाल काफी हद तक तैयार कर लिया गया। दर्शकों और खिलाडिय़ों के बैठने के लिए ब्लाक तैयार किए जाने लगे। इन ब्लाकों के लिए कुर्सियां भी पहुंच गईं। कार्यक्रम स्थल तक पहुंचने के लिए गंगनहर पटरी से नया रास्ता तैयार करने का काम भी युद्धस्तर पर चला। वाहनों की पार्किंग के लिए स्थान को साफ और समतल करके तैयार कर दिया गया।

चमक रहा पिकनिक स्पाट और गंगनहर पटरी

कार्यक्रम से पहले ही सलावा झाल पिकनिक स्पाट को तैयार करने का काम भी किया जा रहा है। बुधवार को भी वहां तमाम कार्य किए गए। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में लोग और वाहन चौधरी चरण सिंह कांवड़ पटरी मार्ग (गंगनहर पटरी) से आएंगे। लिहाजा कार्यक्रम स्थल से कई किमी दूर तक कांवड़ पटरी के किनारे उगी झाडिय़ों तथा अन्य बाधाओं को हटाने के लिए भी अभियान चलाया गया।

ट्रांसमिशन टावरों ने दी टेंशन, सुरक्षा भी अहम

प्रधानमंत्री के काफिले में तीन हेलीकाप्टर रहेंगे। चौथा हेलीकाप्टर मुख्यमंत्री और अन्य वीवीआइपी का रहेगा। लिहाजा कार्यक्रम स्थल के पास ग्राम खेड़ी की जमीन में चार हेलीपैड तैयार किए जा रहे हैं। जिस स्थान पर हेलीपैड तैयार किए जा रहे हैं, उसके दोनों ओर से हाईवोल्टेज की ट्रांसमिशन बिजली लाइनें गुजर रहीं हैं। हेलीपैड के दोनों ओर इन लाइनों के तीन तीन टावर हैं। टावरों के बीच हेलीकाप्टरों की लैंडिंग कराना प्रशासन के लिए मुश्किल है। बुधवार को इन सभी टावरों पर जहां झंडे लगाए गए, वहीं सभी टावरों पर बड़ी-बड़ी लाइटें लगाई गई ताकि हेलीकाप्टरों के पायलट को टावर स्पष्ट दिखाई दे और सुरक्षित लैंडिंग कराई जा सके। इसके साथ ही चारों हेलीपैड खुले स्थान में हैं। लिहाजा यहां प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और अन्य वीवीआइपी की सुरक्षा भी चुनौती है। हेलीपैड को बैरिकेडिंग से कवर किया जाएगा तथा इनके चारों ओर सुरक्षा का घेरा बनाया जाएगा।

सीएम के आगमन की सूचना मिलते ही मची खलबली

बुधवार दोपहर अचानक सूचना मिली कि कार्यक्रम की तैयारियों को देखने के लिए मुख्यमंत्री गुरुवार को मेरठ आ सकते हैं। सूचना मिलते ही अफसरों की धड़कनें बढ़ गईं। मौके पर काम ने अचानक से तेजी पकड़ ली। मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर के लिए एक हेलीपैड शाम तक तैयार कर लिया गया। इसके साथ ही अन्य कार्यों को भी तेज गति से पूरा किया गया।

Edited By: Prem Dutt Bhatt