मेरठ, जेएनएन। नगरपालिका के साफ-सफाई के दावे गली-मोहल्लों में दम तोड़ रहे है। मोहल्ले में पसरी गंदगी से आजिज एक युवक को अपना घर बेचकर दूसरी जगह आशियाना बनाना पड़ा। कुछ अन्य लोग भी घर छोडऩे का मन बना रहे हैं।

मोहल्ला कुम्हारान के लोगों ने बताया कि नपा सफाई कर्मचारी नाले की सफाई के बाद कूड़ा बाहर निकालकर फेंक जाते है। यह सिलसिला लंबे समय से जारी है। कूड़ा महीनों तक बाहर पड़ा रहता है, जिससे असुविधा होती है। मोहल्ले वालों के मुताबिक, नाले से निकाली गई गंदगी को छह माह से नहीं उठाया गया है। यह रास्ता तहसील रोड व भाटवाड़ा मोहल्ले को जाता है। सीएम पोर्टल और नपा अफसरों से शिकायत की लेकिन, समाधान नहीं हुआ। इस मामले में जानने के लिए अधिशासी अधिकारी व कार्यवाहक अमित कुमार भारतीय को फोन किया लेकिन उनका फोन नहीं उठ सका।

नपा के कर्मचारी घरों के पास से गुजर रहे नाले की सफाई करके कचरा मुख्य मार्ग पर डाल देते है। इसे उठाने कोई नहीं आता है।

-कौशल

मार्ग पर लंबे समय से गंदगी पड़ी है। नपा कर्मी कूड़ा उठाने में लापरवाही कर रहे हैं। लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है।

-राजेश

अगर यही हाल रहा तो हमें मजबूरन घर बेचकर कहीं और जाना पड़ेगा। महामारी के चलते संक्रमण फैलने की आशंका है।

-प्रवीण

गंदगी से परेशान होकर अपना घर बेचना पड़ा है। अब नवाबगढ़ी में दूसरे घर में रह रहे है। नपा कर्मी को कूड़ा उठाने के लिए कहो तो वे अनसूना कर देते थे।

-शाहिद

मामला संज्ञान में आया है। कर्मचारी लगवाकर सफाई कराई जाएगी।

-शबीला बेगम, नगर पालिका चेयरपर्सन

Edited By: Taruna Tayal